परिजन धकेल रहे स्ट्रेचर!

 

 

जिला अस्पताल में पसरी हैं अव्यवस्थाएं

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। जिला अस्पताल में व्यवस्थाएं सुधारने के लिये भले ही जिलाधिकारी प्रवीण सिंह के द्वारा एड़ी चोटी एक की जा रही हो पर अस्पताल प्रशासन उनकी मंशाओं पर पानी फेरता नज़र आ रहा है।

जिला अस्पताल में अभी भी अव्यवस्थाएं मुँह बाए ही खड़ी दिख रही हैं। अभी भी मरीज़ों, दिव्यांगों व उनके साथ आये परिजनों को यहाँ बैठने की न तो जगह मिल पा रही है और न ही स्ट्रेक्चर ढकेलने के लिये स्वास्थ्य कर्मी मिल रहे हैं। मरीज़ों के लिये समस्याओं का अंबार लगा है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व.विमला वर्मा के द्वारा जिले के निवासियों को दी गयी अमूल्य धरोहर चार सौ बिस्तर वाले जिला अस्पताल में स्थिति बद से बदतर हो रही है। यहाँ ब्हाय रोगी विभाग (ओपीडी) में मरीज़ों को अपनी जाँच कराने के नाम पर कई घण्टों इंतजार करना पड़ता है।

आलम यह है कि मरीज़ों व परिजनों के लिये बैठने की उचित व्यवस्था न होने के कारण बीमार मरीज़ जमीन पर ही बैठे नज़र आते हैं। प्रत्येक गुरुवार को यहाँ मेडिकल बोर्ड लगता है जहाँ दिव्यांग अपने प्रमाण पत्र बनवाने, दोबारा जाँच कराने आदि कार्यों के लिए यहाँ सभी विकास खण्ड क्षेत्र के सुदूर अंचलों से आते हैं।

दिव्याग मनीष बोपचे, काशी, पूसूलाल ने बताया कि सुबह से आने के बाद दोपहर 03 या 04 बजे तक सभी कार्य पूर्ण होते हैं। ऐसे में यहाँ बैठने तक की उचित व्यस्था नहीं है। कई घण्टों तक खड़े रहना पड़ता है। कोई अस्पताल के फर्श पर तो कोई सीढ़ियों पर बैठने मजबूर होते हैं।

मरीज़ों के परिजनों का आरोप है कि उन्हें बीमारों को लाने ले जाने के लिये खुद ही स्ट्रेचर ढूंढना पड़ता है और उसे धकेलना पड़ता है। यहाँ यह उल्लेखनीय होगा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री सुश्री विमला वर्मा के अवसान के बाद उनकी पार्थिव देह को स्ट्रेचर पर ले जाया गया था, पर उस दौरान भी कोई कर्मचारी नहीं मिला था।

इस स्ट्रेचर को जिला काँग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज कुमार खुराना भी एक वीडियो में धकेलते नज़र आये थे। उस समय माना जा रहा था कि कम से कम राज कुमार खुराना ही अस्पताल की दुरावस्था को दूर करने की पहल करेंगे पर उनके द्वारा जिला काँग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष जकी अनवर खान के उपचार के दौरान हुए निधन की शिकायत की जाँच अब तक मुकम्मल नहीं हो पायी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *