आँखों में चुभ रहे रेत के कण!

 

 

मौसम साफ होते ही उड़ती रेत कर रही लोगों को परेशान

(सादिक खान)

सिवनी (साई)। सिवनी शहर की सड़कों पर रेत के कण उड़कर लोगों की आँखों में जमकर चुभ रहे हैं। भीषण बारिश के इन दिनों में जब कभी मौसम साफ होता है तब मुख्य मार्ग सहित जिला मुख्यालय के अंदरूनी मार्ग पर चलने वाले भारी और अन्य चौपाया वाहनों के पीछे चलने वालों की शामत आ जाती है।

मौसम साफ होते ही जैसे ही सड़कें सूख जाती हैं, वैसे ही यात्री बस, डंपर, ट्रक, कार, जीप आदि वाहनों के पीछे चलने वाले दो पहिया वाहन चालकों की आँखों में धूल और रेत के कण उड़कर चुभते हैं। इसका कारण यह है कि भाजपा शासित नगर पालिका परिषद के द्वारा सड़कों की सफाई उचित तरीके से नहीं करवायी जाती है।

लोगों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि सांसद, विधायकों सहित चुने हुए प्रतिनिधि और प्रशासन के आला अफसरान तो अपने – अपने चार पहिया वाहनों से आना जाना करते हैं, इसलिये उन्हें नागरिकों की इस तकलीफ के बारे में पता नहीं चल पाता है।

लोगों की मानें तो चुने हुए प्रतिनिधियों सहित आला अधिकारी भी अगर दो पहिया वाहन पर बैठकर नागपुर नाके से बस स्टैण्ड होते हुए ज्यारत नाके तक चले जायें तो उनकी आँखों में इतने धूल के कण आयेंगे कि उनकी आँखें लाल हुए बिना नहीं रह जायेंगी। इसके अलावा दमा या श्वास के रोगियों के लिये इस तरह की परिस्थितियां उचित नहीं मानी जाती हैं।

लोगों का कहना है कि मॉडल रोड सहित अन्य अंदरूनी मार्गों पर स्थित खाने पीने की दुकानों में रखे खाद्य पदार्थों पर भी रेत के कण और धूल जाकर प्रदूषित कर रही हो तो किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिये।

इधर, चिकित्सकों की मानें तो बारिश के मौसम में वैसे भी संक्रमण की गुंजाईश ज्यादा ही होती है। इन परिस्थितियों में अगर रेत या धूल के कण वाहन चालकों या उनके पीछे बैठने वालों की आँखों में जाते हैं तो यह उचित नहीं है। इसके लिये जिम्मेदार महकमों के द्वारा इस तरह के प्रबंध किये जाने चाहिये कि धूल या रेत के कण हवा में न उड़ पायें।