दीपावली के उपरांत सर्दी दिखायेगी अपना असर

 

 

उत्तर और पूर्वोत्तर के पहाड़ों ने ओढ़ी बर्फ की चादर

(महेश रावलानी)

सिवनी (साई)। मॉनसून की बिदाई के बाद अब सर्दी के मौसम की राह लोग तक रहे हैं। फिलहाल दिन में गर्मी और रात में अपेक्षाकृत कम तापमान के चलते लोग बीमार भी हो रहे हैं। दीपावली तक मौसम का मिजाज़ इसी तरह का रहने की उम्मीद है। दीपपर्व के बाद सर्दी अपना असर दिखाना आरंभ करेगी।

मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि इस बार बारिश का मौसम कुछ अधिक समय तक चला है। इसके चलते शीत ऋतु का आगमन भी कुछ विलंब से होने की उम्मीद है। लोगों को सुबह और शाम के वक्त गुलाबी सर्दी का अहसास हो रहा है।

शुक्रवार को दिन में तल्ख धूप का सामना लोगों को करना पड़ा तो ब्रहस्पतिवार और शुक्रवार की दरमियानी रात में ठण्ड ने अपनी आमद दी। बीति रात में घरों के बाहर खड़े वाहनों पर ओस की परतें भी जमी दिखायी दी। ऋतु परिवर्तन के साथ ही वायरल फीवर, सर्दी, खांसी की शिकायत लोगों को हो रही है।

रात के वक्त लोगों को कंबल की जरूरत महसूस होने लगी है। इसके साथ ही अब कूलर, एसी का उपयोग लोगों ने लगभग बंद ही कर दिया है। रात के वक्त पंखे की गति भी लोग कम करके ही सो रहे हैं।

सूत्रों का कहना है कि पिछले दिनों हुई बारिश के कारण खेतों में नमी हो गयी है, जिसके कारण सर्दी जोर पकड़ रही है। दीपावली के बाद मौसम में तेजी से ठण्डक होने की संभावना है। दीपावली पर्व पर न्यूनतम तापमान गिरकर 18 से 19 डिग्री सेल्सियस तक पहुँच सकता है।

पहाड़ों में चढ़ी बर्फ की चादर : सूत्रों ने बताया कि अक्टूबर का महीना आरंभ होते ही पहाड़ियों पर बर्फ की चादर नज़र आने लगी है। हिमाचल, उत्तराखण्ड और जम्मू – कश्मीर के कई स्थानों पर मौसम बदल गया है। हिमाचल के लाहौल – स्पीति तो बर्फ भी गिरने लगी है जिससे सैलानियों के चेहरे खिल गये हैँ। मौसम विभाग ने इस बीच पहाड़ी क्षेत्रों में हल्की बारिश होने की आशंका जाहिर की है।