शौचालय के आसपास ऊग आयी गाजर घास!

 

 

कैंप में शामिल प्रशिक्षार्थी कर सकते है परिसर गंदा

(सादिक खान)

सिवनी (साई)। बोरदई टेकरी पर स्थित भारत स्काऊट एण्ड गाईड प्रशिक्षण केंद्र के पास बना शौचालय इन दिनों गाजर घास से पूरी तरह पट गया है। आने वाले समय में विभिन्न संस्थाओं के प्रशिक्षण शिविर में आने वाले प्रशिक्षणार्थियों के द्वारा इसके चलते परिसर को गंदा किया जा सकता है।

ज्ञातव्य है कि भारत स्काऊट एवं गाईड प्रशिक्षण शिविर हेतु बोरदई टेकरी में भवन का निर्माण काफी समय पूर्व किया गया था। इस भवन में समय – समय पर स्काऊट गाईड, राष्ट्रीय सेवा योजना आदि संस्थाओं के प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन किया जाता है।

इस वर्ष अधिक बारिश के चलते इस भवन से लगभग 200 मीटर की दूरी पर स्थित शौचालय के आसपास गाजर घास ऊग आयी है। इसके चलते यहाँ पर लगाये जाने वाले कैंप में बाहर से आने वाले प्रशिक्षार्थियों को शौच इत्यादि के लिये परेशान होना पड़ सकता है। इसके अलावा गाजर घास के कारण बरसात के बाद जहरीले कीट पतंगों का खतरा भी यहाँ मण्डरा सकता है।

गौरतलब है कि बोरदई टेकरी को आध्यात्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जाता है। इस स्थान पर स्थापित शिवलिंग को श्रृद्धालुओं के द्वारा मानसरोवर धाम के रूप में पहचाना जाता है। इस पहाड़ी पर श्रृद्धालुओं के द्वारा साल भर जाकर पूजन अर्चन किया जाता है। वैसे निर्जन स्थान के चलते यह पहाड़ी, प्रेमी युगलों के मिलन का अड्डा भी लंबे समय से बनी हुई है।

माना जा रहा है कि यहाँ पर शौचालय के आसपास गाजर घास ऊगने के कारण प्रशिक्षार्थी परिसर के आसपास शौच आदि करेंगे जिससे यहाँ पर गदंगी फैलने की संभावना है। भारत स्काऊट एवं गाईड के जिला प्रमुख विजय शुक्ला का कहना है कि शिविर के चलते यहाँ नगर पालिका द्वारा प्रशिक्षार्थियों के लिये चलित शौचालय भी यहाँ रखवाये जा रहे है। इसके साथ ही साथ 200 मीटर की दूरी पर स्थित शौचालय के आसपास गाजर घास हटाने के लिये ग्राम पंचायत बोरदई के सरपंच सादिक खान ने आश्वासन दिया है कि यहाँ से कैंप प्रारंभ होने के पूर्व गाजर घास हटा दी जायेगी।