जब भी कोई मृत परिजन सपने में आएं, मतलब!

 

जीवन और मरण जीवन का सबसे बड़ा सत्य है। जो दुनिया में आता है, उसे एक न एक दिन जाना ही होता है। हम में से कई लोग ऐसे होंगे जिन्होंने अपनी जिन्दगी में अपनों को दुनिया छोड़ कर जाते देखा होगा। ऐसे में कुछ वाकये इस तरह के भी हो जाते हैं, जब लोगों को उनके मरे हुए नजदीकी व्यक्ति सपने में नजर आ जाते हैं। इस दौरान होने वाला एहसास अपने आप में अनोखा और रहस्यमयी होता है। मनोविज्ञान का मानना है कि इस तरह के सपनों में खास मैसेज छिपे होते हैं।

हमारे नजदीकी हमें इन सपनों के माध्यम से किसी चीज को लेकर गाइडेंस देने या किसी बात पर आश्वासन देने या फिर आने वाली जिन्दगी में होने वाली किसी बुरी घटना को लेकर सावधान करने आते हैं। इन सपनों में छुपे मैसेजेज पर अमल करके कोई भी व्यक्ति अपनी लाइफ बदल सकता है।

नीचे बताई जा रही कुछ खास बातें इन सपनों को और भी ज्यादा खास बनाती हैं।

इन सपनों के दौरान होता है वास्तविकता का एहसास

इस तरह के सपनों के दौरान आने वाली भावनाएं काफी तीव्र और ज्वलंत होती हैं। ऐसे में सपना देखने वाले को यह बिल्कुल भी आभास नहीं होता है कि यह हकीकत नहीं बल्कि एक सपना है। कुछ मामलों में तो नींद खुलने के बाद भी इंसान उस प्रभाव से बाहर नहीं निकल पाता है। ऐसे सपनों के प्रभाव कुछ पलों से लेकर सालों तक बने रह सकते हैं।

जीवित रहते हुए जो बीमार थे, वो भी स्वस्थ नजर आते हैं

इन सपनों में एक खास बात यह भी होती है कि जो परिचित अपनी मौत के समय काफी बीमार और अस्वस्थ थे, वो सपनों में काफी स्वस्थ नजर आते हैं। सपनों के दौरान देखने वाले को उनके चेहरे पर एक अलग ही तेज नजर आता है।

देने आती है संतुष्टि भरा आश्वासन

मरे हुए परिचित अकसर लोगों को यह आश्वासन देने आते हैं कि वो जहां कहीं भी हैं खुश हैं। इसके साथ वो यह भी कहने आते हैं कि हमें भी अपने जीवन में खुश रहना चाहिए।

हमारी मदद करने आते हैं मरे हुए नजदीकी इंसान

सपने में आने वाला हर मरा हुआ हमारा नजदीकी रिश्तेदार या दोस्त हमें जीवन में आने वाली किसी बड़ी समस्या से बचने के लिए सावधान करने आता है। इसके अलावा कई बार वो जीवन से जुड़े महत्त्वपूर्ण फैसलों में हमें गाइडेंस देने भी आते हैं।

इशारों में कह जाते हैं अपनी बात

सपने में आने वाला हर मरा हुआ करीबी कभी भी अपनी बात को शब्दों में बोल कर बयां नहीं करता है। वह केवल अपने इशारों और हाव-भाव से अपनी बात को व्यक्त करता है। नजदीकी होने की वजह से लोग उनके द्वारा दिए जाने वाले मैसेज को इशारों में भी समझ जाते हैं।

सपना देखने वाले पर होते हैं तीव्र भावनात्मक प्रभाव

किसी भी इंसान को जब उसका मरा हुआ नजदीकी सपने में नजर आता है, तो सपना पूरा होने के बाद जब उस व्यक्ति की नींद खुलती है, तो एक अलग ही एहसास होता है। नींद से जागने के बाद व्यक्ति अपने आप को काफी पॉजिटिव महसूस कर रहा होता है।

दुख से उभारने में मदद करते हैं ये सपने

अधिकतर जिन लोगों को भी सपने में अपने मरे हुए नजदीकी नजर आये, उनके लिए यह एहसास काफी हेल्पफुल रहा। जीवन में आ रही तकलीफों से होने वाले दुख से बाहर निकलने में ये सपने काफी मददगार होते हैं। ऐसे सपनों के बाद लोगों को अपने जीवन में आगे बढ़ते रहने में काफी मदद मिलती है।

ऐसे सपनों के बाद अकसर लोगों की लाइफ बदल जाती है

जिन-जिन लोगों को मरे हुए नजदीकियों के सपने आते हैं, उनके लिए ये सपने एक तरह से लाइफ चेंजिंग अनुभव होते हैं। कई लोग इन सपनों में अपनों द्वारा इशारों में दी जाने वाली गाइडेंस को अपना कर अपने जीवन में क्रांतिकारी परिवर्तन कर डालते हैं।

आध्यात्म और मनोविज्ञान दोनों में इस बात का जिक्र किया गया है कि हमारे अपने जो दुनिया छोड़ कर जा चुके हैं, वो सपनों में आकर हमारे साथ बने रहते हैं। वो हमारे अच्छे के लिए हमेशा हमारे साथ खड़े होते हैं, जरूरत होती है केवल उनके इशारों को समझने की।

(साई फीचर्स)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *