बारिश-बाढ़ से हुई क्षति के लिए केंद्र से मांगी 6,621 करोड़ रुपये की मदद

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। इस मॉनसून में अतिवृष्टि और बाढ़ से प्रदेश को हुई क्षति के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने एनडीआरएफ से 6,621 करोड़ रुपये की तत्काल सहायता मांगी है। मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ‘मध्य प्रदेश के मुख्य सचिव एसआर मोहन्ती ने भोपाल में अंतर मंत्रालयीन केन्द्रीय दल की बैठक में अतिवृष्टि और बाढ़ से प्रदेश को हुई क्षति के लिए एनडीआरएफ से 6,621 करोड़ रुपये की सहायता उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया है।

अधिकारी ने कहा कि बैठक में केंद्रीय दल को यह भी बताया गया कि इस मॉनसून में प्रदेश में खरीफ की 149.35 लाख हेक्टेयर फसल में से 60.52 लाख हेक्टेयर फसल को नुकसान हुआ है। इससे लगभग 55.36 लाख किसान प्रभावित हुए हैं। अधिकारी ने बताया कि इसके अलावा, अतिवृष्टि और बाढ़ से प्रदेश की लगभग 11,000 किलोमीटर सड़कें क्षतिग्रस्त हुई हैं। लगभग 18,604 बिजली के खंभे और ट्रांन्सफार्मर और 1.2 लाख मकान भी क्षतिग्रस्त हुए हैं।

उन्होंने कहा कि मोहंती ने बैठक में केंद्र की ओर से तत्काल सहायता उपलब्ध कराने का अनुरोध करते हुये प्रदेश की स्थिति को गंभीर आपदा के रूप में लेने का अनुरोध किया। संयुक्त सचिव केन्द्रीय गृह मंत्रालय एसके शाही के नेतृत्व में आए अंतर मंत्रालयीन केंद्रीय दल ने प्रदेश के 15 जिलों का भ्रमण कर बुधवार को राज्य शासन के अधिकारियों के साथ मंत्रालय में बैठक की।

केन्द्रीय दल को अवगत कराया गया कि प्रदेश में इस साल एक जून से 30 सितम्बर तक की अवधि में 1348.3 मिलीमीटर वर्षा हुई, जो सामान्य से 43 प्रतिशत अधिक है। प्रदेश के 20 जिले अतिवृष्टि से प्रभावित हैं।