कमलेश तिवारी की हत्या के बाद बवाल

 

 

 

 

कई जगहों पर समर्थकों का चक्का जाम

(ब्यूरो कार्यालय)

लखनऊ (साई)। यूपी की राजधानी लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष तथा हिंदू महासभा के नेता रहे कमलेश तिवारी की दिनदहाड़े हत्या से हड़कंप मच गया है। राजधानी में विभिन्न स्थानों पर कमलेश के समर्थकों ने दुकानें बंद करवानी शुरू कर दी हैं। इतना ही नहीं, कुछ जगहों पर कमलेश के समर्थकों के द्वारा चक्का जाम और तोड़फोड़ भी की गई है।

जानकारी के मुताबिक, लखनऊ की अमीनाबाद मार्केट में कमलेश के समर्थक दुकानों को बंद करा रहे हैं। इसके अलावा हुसैनाबाद, पक्का पुल, नाका समेत लखनऊ के कई इलाकों में कमलेश के समर्थक जमकर बवाल कर रहे हैं। समर्थकों का आरोप है कि एक धर्म विशेष के लोगों ने कमलेश की हत्या की है। समर्थकों की मांग है कि कमलेश के हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़ा जाए।

दूसरी ओर कमलेश के यहां काम करने वाले स्वराष्ट्रजीत सिंह ने बताया कि कमलेश और हत्यारों के बीच कुछ बात चल रही थी। जब वह उन्हें चाय देने आया तो सुना कि उन लोगों में किसी मुस्लिम लड़की और हिंदू लड़के की शादी को लेकर चर्चा हो रही थी। स्वराष्ट्रजीत को सिगरेट लाने के लिए आरोपियों ने बाहर भेजा और फिर कमलेश की हत्या कर फरार हो गए। जानकारी के मुताबिक, हत्यारे बाइक से आए थे।

कमलेश तिवारी की हत्या को लेकर आसपास के कई जिलों में भी तनाव का माहौल है। लखीमपुर में मीडिया से बात करते हुए वीएचपी के प्रांतीय मीडिया प्रमुख आचार्य संजय मिश्रा ने सरकार से तिवारी के परिवारवालों को 5 करोड़ रुपये देने के साथ हिन्दूवादी नेताओं को सुरक्षा देने की मांग की है। मिश्रा ने यह भी कहा कि कमलेश के हत्यारों को फांसी मिलनी चाहिए।

आपको बता दें कि कमलेश तिवारी से नाका के खुर्शीद बाग स्थित ऑफिस में दो लोग मिलने आए थे। ये दोनों मिठाई का डिब्बा लिए हुए थे, जिसमें चाकू और असलहा था। बताया जा रहा है कि दोनों ने कमलेश तिवारी से मुलाकात की। बातचीत के दौरान दोनों बदमाशों ने कमलेश के साथ चाय भी पी। इसके बाद उनपर गोली चलाई, लेकिन लगी नहीं। इसके बाद बदमाशों ने कमलेश का गला रेत दिया और शरीर पर भी कई वार किए।