नशा, जुआ और सट्टे की जद में घंसौर!

 

 

पुलिस भी नाकाम दिख रही लगाम लगाने में!

(ब्यूरो कार्यालय)

घंसौर (साई)। उड़ता पंजाब की तर्ज पर घंसौर में भी युवा नशे और जुए सट्टे की जद में दिखायी दे रहा है। युवाओं को नशे की सामग्री आसानी से उपलब्ध है तो जुए और सट्टे में भी युवा दांव लगाते हुए सहज रूप से ही दिख जाते हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार घंसौर क्षेत्र में गाँव – गाँव में अवैध रूप से शराब बेचे जाने का काम बेखौफ जारी है। आबकारी विभाग के द्वारा महज कच्ची शराब या लहान की यदा कदा जप्ति बनायी जाकर अपने कर्त्तव्यों की इतिश्री कर ली जाती है, पर इस क्षेत्र में गाँव – गाँव बिक रही देशी और अंग्रेजी शराब पर अब तक अंकुश लगाने में आबकारी विभाग नाकाम ही साबित हुआ है।

पिछले कुछ सालों से घंसौर के शिकारा क्षेत्र में घटी घटनाओं की जड़ में कहीं न कहीं नशे का कारोबार भी दोषी माना जा सकता है। इसके अलावा जगह – जगह जमने वाली जुए की फड़ें और सरेआम लिखी जाने वाली सट्टे की पट्टियों को देखकर लगता है कि इसमें संलिप्त लोगों के मानस पटल पर पुलिस का खौफ नहीं रह गया है।

कहा तो यहाँ तक जा रहा है कि घंसौर के पुलिस थाने से महज चंद कदम दूरी पर गांजे और अफीम जैसे नशे की सामग्री के साथ ही साथ स्मेक की उपलब्धता भी आसानी से हो जाती है। इसके साथ ही साथ शहर के मुख्य चौराहों पर चाय पान के टपरों पर सट्टे का कारोबार जारी है। कहा तो यहाँ तक भी जा रहा है कि धनौरा और लखनादौन के कुछ नामी गिरामी सटोरियों के द्वारा घंसौर क्षेत्र में सट्टे का करोबार करवाया जा रहा है।