हार-जीत से ही बनता है भविष्य : बिसेन

हार-जीत से ही बनता है भविष्य : बिसेन

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। खेल में हार जीत मायने नहीं रखती बल्कि आपका प्रदर्शन राष्ट्रहित में होना चाहिये। हाल ही में बरघाट के विधायक 30 वर्षांे से चुनाव लड़ते रहे, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और उनकी लगन मेहनत, कर्त्तव्य निष्ठा देशप्रेम ने उन्हें आखिर विजय दिलवायी। यह बात हमारे लिये सीख लेने की है।

उक्त उदगार जिला जनजाति विभाग के तत्वावधान में आयोजित राज्य स्तरीय हॉकी प्रतियोगिता के अवसर पर सांसद डॉ.ढाल सिंह बिसेन ने व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि जब हम खेलते है तो हमें हार मिलती है। जिसकी समीक्षा के उपरांत हमें अपनी कमी दूर करना चाहिये, जिससे हमें भविष्य में हमंे सफलता मिल सके।

इस अवसर पर जनजाति विभाग के सहायक आयुक्त सतेन्द्र मरकाम ने कहा कि इस आयोजन में निश्चित ही जो खिलाड़ी आये है, यहाँ पर प्रदर्शन के उपरांत विजयी होने पर पूना जायेंगे, जहाँ पर उन्हें राष्ट्रीय प्रतियोगिता में शामिल होने का मौका मिलेगा। नगर पालिका अध्यक्ष आरती शुक्ला ने कहा कि मेजर ध्यानचंद ने हॉकी को न केवल खेला बल्कि जीया, विषम परिस्थिति में भी राष्ट्रप्रेम का उदाहरण रखा।

इस अवसर पर विधायक अर्जुन सिंह काकोड़िया ने कहा कि जनजातीय विभाग द्वारा आयोजित प्रतियोगिता अपने सौपानों को स्पर्श करेगी और यहाँ के खिलाड़ी जिले का नाम रौशन करेंगे। इस अवसर पर विधायक दिनेश राय, वेदसिंह ठाकुर, मनोज सोनी, पप्पू सोनी, राजेश त्रिवेदी, रानी बाटड़, अरविंद दीक्षित, शिरीष तिवारी, नोयल जोसफ आदि उपस्थित रहे। प्रथम मैच ग्वालियर एवं आदिम जाति कल्याण विभाग के बीच खेला गया, जिसमें ग्वालियर की टीम विजयी रही।