मौसम की मार, तो कहीं गलत बीज विक्रय की शिकायत

 

मक्के में दाने की कमी की शिकायत, बर्बाद हुई फसल, किसानों ने अधिकारियों से की शिकायत

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। खरीफ फसलों की कटाई में इन दिनों जिले भर के किसान जुटे हैं। ऐसे में अधिक बारिश से जहाँ मक्का की फसलें बर्बाद हुई है वहीं अनेक किसान खाद बीज दुकानों से खरीदे गये बीज से उचित उत्पादन नहीं होने की शिकायत भी कर रहे हैं।

विकास खण्ड केवलारी के ग्राम पंचायत पांजरा के किसान मूलचंद दुबे, धीरेन्द्र, असाढ़ू, मुल्लू आदि ने बताया कि क्षेत्र में बोई गयी मक्का की फसलें खराब हो गयी हैं जिसमें लगभग 60 प्रतिशत फसलों के नुकसान का अनुमान है। किसानों ने बताया कि एक ओर जहाँ बारिश से नुकसानी हुई है। वहीं कुछ के पनी द्वारा मक्का का अच्छा बीज होने का दावा तो किया लेकिन फसल जब पककर तैयार हुई तो उसमें दाने काफी कम निकले।

किसानों ने कंपनी द्वारा घटिया किस्म के बीज बेचे जाने का आरोप लगाते हुए कृषि अधिकारियों से माँग की है कि शीघ्र ही इस ओर ठोस कदम उठाया जाये। इसके साथ ही किसानों ने बताया कि बीमा कंपनियों ने भी अब तक सर्वे निरीक्षण नहीं किया है जिससे किसानों में खासा आक्रोश व्याप्त है।

किसानों ने बताया कि मौसम की मार ने जिले के किसानों को बदहाली के कगार तक पहुँचा दिया है। पहले खरीफ की फसल अत्यधिक बारिश पानी की भेंट चढ़ गयी वहीं अनेक किसानों को कंपनी के हाइब्रीड बीज का वादा कर बेहतर उत्पादन की बात कही गयी थी लेकिन उक्त कंपनी का बीज लेकर बोवनी किये जाने के बाद मक्का की फसल में दाना नहीं लगा है। किसानों की शिकायत है कि मकई के भुट्टे में दाना की संख्या काफी कम है। साथ में कई भुट्टे में बिल्कुल ही दाना नहीं लगने की शिकायत मिल रही है।

किसानों ने बताया कि बीते कुछ सालों में मक्का की खेती का रकबा जिले में लगातार बढ़ा है। बेहतर पैदावार और अच्छे दाम मिलने के कारण किसान इसकी खेती में दिलचस्पी लेने लगे हैं। वहीं पीड़ित किसानों ने कलेक्टर से माँग की है कि शीघ्र ही गलत बीज विक्रेताओं, कंपनी द्वारा गलत बीज बेचे जाने के साथ ही सर्वे कार्य पूर्ण कर उचित मुआवजा दिया जाये।