धनतेरस में बीस घण्टे रहेगा ऐसा योग, जानिये खरीददारी का शुभ मुहूर्त

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। दीपावली पर्व के नजदीक आते ही बाज़ारों की सूरत बदल गयी है। धनतेरस को लेकर लोगों में खासा उत्साह देखा जा रहा है। शुक्रवार 25 अक्टूबर को धनतेरस से पंच दिवसीय पर्व की शुरूआत हो जायेगी। इस वर्ष डेढ़ दिन तक खरीदी के लिये शुभ मुहूर्त है। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को धनतेरस (25 अक्टूबर) है।

ज्योतिष की जानकार आरजू विश्वकर्मा के अनुसार दीपावली पर्व का शुभारंभ धनतेरस से ही होता है। इस वर्ष त्रयोदशी का शुभ योग 20 घण्टे तक है। 25 अक्टूबर को त्रयोदशी सुबह 07.08 बजे आरंभ होगी और 26 अक्टूबर को दोपहर 03.47 बजे तक रहेगी। धनतेरस पर सर्वार्थ सिद्धि योग भी है, इसलिये इस दिन खरीदी और पूजा का महत्व बढ़ गया है। इस दिन बर्तन, सभी प्रकार के सामान खरीदे जा सकते हैं।

धनतेरस के मुहूर्त में लोग बर्तन, सभी प्रकार के सामान के साथ ही सोने, चाँदी के उपहार आदि की खरीददारी का महत्व है। इस दिन खरीदा सामान शुभ फलदायी होते हैं। धनतेरस के लिये शहर के मुख्य बाज़ार, त्यौहार के नजदीक आते ही यहाँ भीड़ बढ़ती जा रही है।

मंदिरों से लेकर घर-घर में चल रहा सफाई कार्य : दीपावली के त्यौहार पर मंदिरों से लेकर घर-घर में साफ – सफाई का कार्य हफ्तों पूर्व से चल रहा है। पर्व के नजदीक आते ही इस कार्य में और तेजी देखी जा रही है। इस दौरान शहर के देवायलों में भी साफ सफाई और रंगाई पुताई की जा रही है।

धनतेरस पर खरीदारी का मुहूर्त

चौघड़िया मुहूर्त : लाभ सुबह 07.54 से 09.20 बजे तक। अमृत : सुबह 09.21 से पौने 11 बजे तक। शुभ : दोपहर 12.11 से 01.36 बजे तक। चर : शाम 04.27 से 05.53 बजे तक। लाभ : रात 09.02 से 10.36 बजे तक। अभिजीत मुहूर्त : दोपहर 11.48 से 12.33 बजे तक। गोधूली बेला : शाम 05.28 से 05.52 बजे तक। प्रदोष काल : शाम 05.53 से रात 08 बजे तक। स्थिर लग्न : वृश्चिक लग्न सुबह 08.13 से 10.29 बजे तक। कुंभ लग्न – दोपहर 02.21 से 03.54 बजे तक। वृषभ लग्न : शाम 07.05 से 09.04 बजे तक।