संजय प्रताप को मातृशोक

 

चंदा देवी हुईं पंचतत्व में विलीन

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। लोक निर्माण विभाग से सेवानिवृत्त हुए स्व.गुलाब सिंह परमार की अर्धांग्नि चंदा देवी परमार बुधवार 23 अक्टूबर को सुबह, लगभग 87 वर्ष की आयु में ब्रह्मलीन हो गयीं।

उनके पुत्र अजय प्रताप सिंह इसी साल जनवरी में ब्रह्मलीन हो गये थे और इस बात से वे काफी व्यथित रहतीं थीं। पिछले कुछ दिनों से वे अस्वस्थ्य चल रहीं थीं। बुधवार को सुबह लगभग साढ़े आठ बजे उन्होंने अपने निज निवास पर अंतिम सांस ली। उनकी अंतिम यात्रा ब्रुधवार को दोपहर दो बजे भाजपा कार्यालय के सामने स्थित उनके निज निवास से कटंगी नाका मोक्षधाम के लिये रवाना हुई जिसमें बड़ी तादाद में लोगों ने उनको अंतिम बिदाई दी।

उनको, उनके पुत्र एवं सिंह ट्रेवल्स के संचालक संजय प्रताप सिंह के द्वारा मुखग्नि दी गयी। वे अपने पीछे पुत्र संजय प्रताप सिंह, पुत्र वधुओं एवं नाती पोतों का भरा पूरा परिवार छोड़ गयीं हैं।

समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया और दैनिक हिन्द गजट परिवार इस दुःख की घड़ी में परिजनों को गहन दुःख सहने की क्षमता ईश्वर से प्रदान कर दिवंगत आत्मा की चिरशांति की कामना ईश्वर से करता है।