सात दशकों बाद दीपावली पर बन रहा यह शुभ संयोग

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। दीपों का पर्व दीपावली इस बार रविवार को मनाया जायेगा। यह पाँच पर्वों का अनूठा त्यौहार है। इसमें धनतेरस, नरक चतुर्दशी, दीपावली, गोवर्धन पूजा और यमद्वितीया आदि मनाये जाते हैं। दीपावली की रात्रि में कई प्रकार के तंत्र-मंत्र से महालक्ष्मी की पूजा – अर्चना कर पूरे साल के लिये सुख – समृद्धि और धन लाभ की कामना की जाती है।

ज्योतिष की जानकार आरजू विश्वकर्मा ने बताया कि इस बार दीपावली रविवार 27 अक्टूबर को मनायी जायेगी। इस दिन सभी लोग अपने घर की साफ – सफाई करके व घर को दीपों के प्रकाश से उज्ज्वल करके अपनी आर्थिक समृद्धि के लिये देवी की आराधना करते हैं। इस दिन कई शुभ मुहूर्त बन रहे हैं, जिसके चलते इस बार की दीपावली बहुत खास है।

जानिये क्या है दीपावली का शुभ मुहूर्त : दीपावली पर लक्ष्मी पूजन की तिथि : 27 अक्टूबर, अमावस्या तिथि प्रारंभ : 27 अक्टूबर को दोपहर 12 बजकर 23 मिनिट से, अमावस्या तिथि समाप्त : 28 अक्टूबर को सुबह 09 बजकर 08 मिनिट तक। लक्ष्मी पूजन मुहूर्त : 27 अक्टूबर को रात 12 बजकर 23 मिनिट तक। इसकी कुल अवधि रहेगी 01 घण्टा 20 मिनिट।

पूजा के दौरान अवश्य करें ये काम : उन्होंने बताया कि दीपावली के दिन घर पर पूजन के समय 21 हकीक के पत्थरों का भी पूजन करना चाहिये। पूजन करने के पश्चात उन्हें अपने घर में कहीं पर भी गाड़ देना चाहिये। ऐसा माना जाता है कि दीपावली के दिन ऐसा करने से वर्ष भर देवी लक्ष्मी का स्थायी वास रहता है। दीपावली के पूजन के समय 501 ग्राम सूखे छुआरों को लाल कपड़े में बांधकर घर के जिस स्थान पर पैसा रखा जाता है वहीं पर रखना चाहिये। ऐसा करने से घर में धन की संपन्नता बनी रहती है।