कचरा डंपिंग को लेकर नगर परिषद को दिया नोटिस

 

(ब्यूरो कार्यालय)

बरघाट (साई)। नगरीय सीमा से सटे साल्हे कोसमी गाँव में शहर से निकलने वाला कचरा फेंकना अब तक नगर परिषद बरघाट ने बंद नहीं किया है। प्रतिदिन कचरे के साथ फेंकी जा रही सड़ी गली वस्तुओं, सब्जियों, प्लास्टिक, मृत जीवों के अवशेष व अन्य अपशिष्ट से क्षेत्रवासियों का दम घुट रहा है।

आबादी क्षेत्र से लगी ग्राम पंचायत साल्हे कोसमी के तीन खसरों की लगभग 09 हेक्टेयर जमीन पर नगर परिषद लंबे समय से कचरा डंप कर रही है। इससे क्षेत्रवासियों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। स्टेडियम, स्कूल, कॉलेज आईटीआई व आवागमन मार्ग के निकट होने के कारण कचरा क्षेत्र वासियों के लिये मुसीबत बन गया है।

इस मामले में बरघाट एसडीएम ने मुख्य नगर पालिका अधिकारी बरघाट को नोटिस जारी कर जवाब माँगा है। नोटिस में नगर परिषद को 15 दिन का वक्त कचरा डंप करने के लिये नयी जगह तलाशने के लिये दिया गया है। नोटिस में यह भी कहा गया है कि 15 दिनों में अगर साल्हेकोसमी में कचरा फेंकना बंद नहीं किया गया तो नगर पालिका अधिकारी पर सीआरपीसी की धारा 133 के तहत प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही की जायेगी।

बगैर अनुमति फेंक रहे कचरा : साल्हे कोसमी गाँव में नगर परिषद बरघाट द्वारा बगैर अनुमति लंबे समय से कूड़ा कचरा फेंका जा रहा है। कई बार शिकायत के बावजूद नगर परिषद के कचरा फेंकना बंद नहीं करने पर 21 सितंबर को आक्रोषित ग्रामीणों ने कचरा लेकर पहुँचे वाहनों को साल्हे कोसमी गाँव की सीमा पर ही रोक दिया था।

मौके पर पहुँचे अधिकारियों ने ग्रामीणों को यह आश्वासन देकर विरोध करने से रोक दिया था कि अगले एक माह में परिसर अन्य जगह पर कचरा डंप करने की व्यवस्था बना लेगी, लेकिन एक माह बाद भी नगर परिषद ने साल्हे कोसमी गाँव में कचरा व अपशिष्ट फेंकना बंद नहीं किया है। इससे क्षेत्र वासियों में आक्रोश व्याप्त है।

फैल रहीं बीमारियां : ग्रामीणों का कहना है कि परिषद द्वारा कूड़े कचरे के साथ फेंके जा रहे अपशिष्ट से क्षेत्र में संक्रामक बीमारियां फैल रही हैं। वहीं ग्रामीणों के स्वास्थ्य पर भी इसका बुरा असर पड़ रहा है। विरोध के बाद नगर परिषद ने साल्हे कोसमी गाँव में डंप कचरे पर कीटनाशक इत्यादि का छिड़काव कराया था। वर्तमान में हर दिन बड़ी मात्रा में कचरा फेंका जा रहा है जिससे उठ रही दुर्गंध के कारण लोगों का जीना मुश्किल हो गया है।