महावीर निर्वाण उत्सव पर चढ़ेंगे निर्वाण लाडू

 

(ब्यंूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। भगवान महावीर ने समस्त कर्माें का क्षय करके आज के दिन निर्वाण पद प्राप्त किया था और कर्माे के बंधन से मुक्त हुए, वर्धमान के रूप में निर्वाण पद को प्राप्त किया था किंतु वह वर्धमान हमारे वर्तमान में भी झलक रहे हैं। बाहरी दीप के माध्यम से हमंे अंतस का दीप भी जलाना है, तभी हमारा अज्ञानता तिमिर हट पायेगा।

इसी बात को ध्यान में रखते हुए जैन समाज भगवान महावीर निर्माण दिवस को दीपावली के रूप में मनाते हैं। इस दिन प्रातः 05 बजे से मंदिरों में पूजन – अर्चन किया जाता है। लोग एकता, अखण्डता का संदेश देते हुए बूंदी के लड्डू बनाकर भगवान को चढ़ाते है। सिवनी के दिगंबर जैन मंदिर में भी इस अवसर पर उत्सव सा माहौल होता है। सैंकड़ों दीपकों के बीच भगवान का निर्वाण एवं आरती पूजन को लेकर समाज में उत्साह का वातावरण दिखता है।

जिले के छपारा में भी आचार्य विद्या सागर महाराज की अनुवर्ती शिष्या आर्यिका दृढ़मती माताजी के सानिध्य में यहाँ पर भव्य आयोजन एवं चातुर्मास निष्ठापन का कार्यक्रम भी आयोजित होगा। इसी तरह घंसौर, धनौरा, भोमा, कान्हीवाड़ा में भी यही क्रम जारी रहेगा।