चेन स्नेचिंग के एक दिन पहले रात ढाई बजे घूम रहे थे आरोपी

 

 

 

 

चेकिंग में पुलिस ने खींचे थे फोटो

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। बीते एक नवंबर की सुबह करीब सात बजे गीतांजलि कॉम्प्लेक्स कोटरा सुल्तानाबाद निवासी अश्वनी पाटिल पत्नी आनंद पाटिल (45) के गले से चेन छीनकर भागने वाले आरोपियों का 3 नवंबर की देर रात को पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया। अश्वनी गुलमोहर कालोनी में हर्बल सेंटर चलाती हैं। एक नवंबर को सुबह वह करीब सात बजकर बीस मिनट पर घर से एक्टिवा लेकर सेंटर जाने के लिए निकली थी।

करीब दस मिनट बाद वह मनीषा मार्केट से शैतान सिंह चौराहे की तरफ जा रही थी, तभी पीछे से गाड़ी पर सवार दो युवकों ने गले से मंगलसूत्र छीन लिया था। महिला ने बदमाशों का कुछ दूरी तक पीछा भी किया, लेकिन दोनों ग्यारह सौ क्वार्टर की तरफ भाग निकले थे। गौरतलब है कि चेन छीनने के करीब 5.30 घंटे पहले यानी 31 की मध्य रात्रि करीब 2.30 बजे दोनों युवक हनुमानगंज थाना क्षेत्र में अल्पना तिराहे पर घूम रहे थे।

यहां रात्रि गश्त के दौरान पुलिस ने दोनों युवकों को रोककर चेकिंग की। दोनों ने रेलवे स्टेशन किसी को छोडऩे का बताया और गाड़ी के कागज चेक कर पुलिस ने दोनों का गाड़ी सहित फोटो खींच लिया था। सुबह जब दोनों के फोटो पुलिस और अन्य जगह प्रसारित किए तो हनुमानगंज पुलिस द्वारा रात में खींचे गए फोटो से मिलान हो गया। पुलिस को दोनों युवकों तक पहुंचने में यह फोटो काफी मददगार साबित हुए।

पकड़े गए आरोपी में नीतेश जाटव, उर्फ गजनी पिता लीलाकिशन जाटव (19) रायसेन निवासी, रोहन सूत्रधर पिता स्व राजेश सूत्रधर (21) ज्योतिबा फुले नगर चार इमली और राजेश अग्रवाल आरवी अग्रवाल (56) ओम शिव नगर कोहेफिजा ज्वैलर को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों युवकों ने राजेश अग्रवाल को मंगलसूत्र बेचा था।

इस प्रकार लुटेरों तक पहुंची पुलिस

घटना के बाद पुलिस ने क्षेत्र के सीसीटीवी कैमरे जांचे। इसमें टीवीएस ज्यूपिटर मोपेड पर सवार दो नकाबपोश बदमाश दिखाई दिए। इस गाड़ी पर नंबर प्लेट नहीं थी। कैमरे में गाड़ी नीले रंग की दिखाई दे रही थी। टीवीएस कंपनी से इस रंग की गाडिय़ों की जानकारी ली गई। इसमें पुलिस को करीब डेढ़ हजार गाडिय़ां मिली। पुलिस ने जब नीले रंग (मेटेलिक ब्लू) कलर वाली गाडिय़ों की जानकारी जुटाई तो उनकी संख्या करीब बारह सौ से निकली।

तीन दिनों के भीतर पुलिस ने इनकी जांच की। इसी बीच हनुमानगंज थाना पुलिस द्वारा 31 अक्टूबर की रात को खींचे गए फोटो से भी इन युवकों की गाड़ी का मिलान हो गया। लुटेरों की गाड़ी एमपी 04यूवी 3016 का पता निकाला। बाद में पुलिस ने दोनों आरोपियों को दबोच लिया। गाड़ी भी जप्त कर ली। डीआईजी भोपाल इरशाद वली के अुनसार दोनों युवकों ने महिला की रैकी कर मौका देख वारदात को अंजाम दिया है।

नीतेश दो साल बाद फिर सक्रिय हुआ अपराध में

पुलिस ने नीतेश जाटव रायसेन हाल निवासी ज्योतिबा फुले नगर, रोहन सूत्रधर, ज्योतिबा फुले नगर, को गिरफ्तार कर लिया। गाड़ी भी जप्त कर ली। नीतेश दसवीं फेल होने के बाद बुआ के घर रहकर मजदूरी करता है। उसके खिलाफ 2017 में भी हबीबगंज थाने में मारपीट का मुकदमा दर्ज हुआ था। रोहन बीए प्रथम वर्ष का छात्र है और वह उबेर कंपनी में डिलीवरी बॉय का काम करता है। लूट का माल खरीदने वाले राजेश अग्रवाल को भी आरोपी बनाया है। राजेश की न्यू मार्केट में राज ज्वैलर्स नामक दुकान है।

जेब खर्च निकालने के लिए की थी लूट

दोनों आरोपी युवक शराब के और मंहगे शौक रखते हैं। जेब खर्च पूरा नहीं होने के कारण उन्होंने लूट की योजना बनाई थी। इसके लिए रोहन की बहन की ज्यूपिटर गाड़ी पर दोनों रोजाना सुबह निकलते थे और अकेली निकलने वाली महिलाओं को टारगेट करते थे। 1 नवंबर को जब इन्हें मौका मिला, तो अश्वनी पाटिल का मंगलसूत्र छीन लिया।