शहर में सुलग रहे कोयले के भट्टे!

 

मुझे शिकायत कोयले की भट्टी के उन संचालकों से है जिनके द्वारा इनका संचालन शहर के अंदर ही आबादी वाले क्षेत्रों में किया जा रहा है।

सिवनी में शाद कॉलानी जिसे दीवान कॉलोनी भी कहा जाता है, यहाँ पर कोयले की भट्टी का संचालन कई वर्षों से किया जा रहा है। इसके कारण क्षेत्र वासियों को जमकर परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस संपूर्ण क्षेत्र का वातावरण दूषित बना हुआ है जिसकी ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

आश्चर्य की बात तो यह है कि संबंधित विभागों का ध्यान भी इस ओर नहीं जा पा रहा है कि शहर के अंदर ही, आबादी वाले क्षेत्र में कोयले की भट्टी लगातार सुलगायी जा रही है जिसके कारण कभी भी कोई बड़ा हादसा घटित हो सकता है। यह क्षेत्र ऐसा है जहाँ इन भट्टों के कारण यदि कोई अग्नि की दुर्घटना घटित होती है तो अग्निशामक वाहनों को भी मौके पर पहुँचने के लिये काफी जद्दोजहद का सामना करना पड़ेगा।

जिला प्रशासन जैसे संबंधित विभागों से अपेक्षा ही की जा सकती है कि उनके द्वारा इस क्षेत्र में चल रहे कोयले के भट्टों को शीर्घ अतिशीघ्र बंद करवाया जाकर, नागरिकों को किसी संभावित दुर्घटना से, वक्त रहते ही सुरक्षित किया जाये। इसके साथ ही इस बात की भी जाँच की जाना चाहिये कि कोयले के इन भट्टों के संचालकों के द्वारा किसी वैध अनुमति के ही इनका संचालन किया जा रहा है अथवा वे अवैध रूप से ही, चोरी छुपे इन भट्टों का संचालन करके लोगों की जान को जोखिम में डाल रहे हैं।

एक नागरिक