रैपिड किट से डेंगू पॉजिटिव आने पर फौरन सीएमएचओ को देना होगी सूचना!

 

 

 

 

स्वास्थ्य संचालनालय ने सभी जिलों के सीएमएचओ को लिखा पत्र

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। निजि अस्पताल डेंगू और चिकनगुनिया रैपिड किट से जांच कर पॉजिटिव रिपोर्ट नहीं देंगे। ऐसे मरीजों को संदिग्ध माना जाएगा। पुष्टि के लिए इन मरीजों की एलाइजा जांच कराई जाएगी। साथ ही रैपिड जांच के संदिग्ध मरीजों की सूचना निजि अस्पताल नियमित तौर पर सीएमएचओ को देंगे।

स्वास्थ्य संचालनालय में संयुक्त संचालक डॉ. उपेन्द्र दुबे ने इस संबंध में सभी जिलों के सीएमएचओ को निर्देश दिए हैं। उप संचालक डॉ. हिमांशु जायसवार ने बताया कि भारत सरकार डेंगू बुखार की पुष्टि के लिए रैपिड किट की जांच को मान्यता नहीं देती। एनएस-1 एंटीजन टेस्ट व मैक एलाइजा टेस्ट ही मान्य है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में एलाइजा जांच की सुविधा 43 से बढ़ाकर 56 संस्थानों में की जा चुकी है।

आपने बताया कि भोपाल में जेपी, हमीदिया, एम्स, बीएमएचआरसी व सिविल अस्पताल बैरागढ़ में जांच की जा रही हैं। डॉ. जायसवार ने बताया कि प्रदेश में इस साल अभी तक 2449 डेंगू व चिकनगुनिया के मरीज मिले जो अन्य राज्यों से काफी कम हैं। इनमें भोपाल के 1100 मरीज शामिल हैं। भोपाल में रोकथाम के लिए 125 दल लगे हुए हैं।