अयोध्या मामले को लेकर पूरी तरह चौकस है पुलिस प्रशासन

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। आने वाले दिनों में अयोध्या मामले में आने वाले फैसले के मद्देनज़र प्रशासन ने अपनी ओर से शांति बनाये रखने के लिये प्रयास आरंभ कर दिये हैं। एक दिन पहले ही जिला प्रशासन ने जिले में धारा 144 लगा दी थी। गुरुवार को जिला मुख्यालय में पुलिस ने फ्लैग मार्च निकाला वहीं जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में पुलिस ने शांति समितियों की बैठकें लेनी आरंभ कर दी हैं।

आने वाले दिनों में अयोध्या मामले में फैसले को देखते हुए प्रशासन पूरी तरह से चौकसी बरत रहा है। सिवनी जिले में हालात सामान्य बनाये रखने के लिये दो कंपनियां बुलायी गयी हैं। आठवीं बटालियन छिंदवाड़ा से 112 का बल और डेमो कंपनी जबलपुर से छटवीं बटालियन के 66 जवान सिवनी आ चुके हैं।

इन्हें सभी संवेदनशील इलाकों में तैनात किया जायेगा। गुरुवार को जिला मुख्यालय में फ्लैग मार्च निकाला गया। कोतवाली से निकला यह फ्लैग मार्च बस स्टैण्ड, हड्डी गोदाम से होते हुए पूरे शहर का भ्रमण करते हुए वापस कोतवाली पहुँचा। जिले के विभिन्न संवेदनशील इलाकों में इन्हें तैनात किया जायेगा।

जिले में किसी भी तरह की कानून व्यवस्था की समस्या न हो इसके लिये प्रशासन ने बैठकों का दौर पहले से ही आरंभ कर दिया है। गुरुवार को एसपी, एएसपी ने मैराथन बैठकों में हिस्सा लिया। इसके साथ ही जिला कलेक्ट्रट सभाकक्ष में भी शांति समिति की बैठक ली गयी। विभिन्न थाना क्षेत्रों में पुलिस अधिकारी, लोगों से मिलकर आपसी भाईचारा बनाये रखने की अपील कर रहे हैं। कोतवाली पुलिस ने विभिन्न मोहल्लों में नागरिकों के साथ बैठक की है तो वहीं कान्हीवाड़ा पुलिस ने भी ग्रामीणों से बातचीत करते हुए मॉक ड्रिल की है।

शांति समिति की बैठक में सिवनी जिले के ऐतिहासिक गौरवशाली परंपरा अनुरूप दोनों ही पर्वों को मिल-जुल कर आपसी भाईचारे से मनाने एवं पर्व के दौरान किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना से बचने के लिये उपस्थित जनों से चर्चा कर महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये। इसके साथ ही अयोध्या मामले में आने वाले फैसले के मद्देनज़र भी चर्चा की गयी।

पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक ने कहा कि इन पर्वों को शांतिपूर्ण एवं गरिमापूर्ण रूप से मनाये जाने हेतु सभी धर्मालंबियों को आवश्यक सहयोग जिला प्रशासन द्वारा दिया जायेगा तथा 10 नवंबर को ईद मिलाद उन नबी एवं प्रकाश पर्व में आयोजित जुलूस एवं चल समारोह के लिये तय अनुसार रूट चार्ट सड़क मरम्मत, यातायात, साफ – सफाई की व्यवस्था प्रशासन के संबंधित विभाग द्वारा की जायेगी।

उन्होंने कहा कि जुलूस एवं चल समारोह में दो पहिया वाहन एवं डीजे का पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक ने उपस्थित सभी शांति समिति सदस्यों एवं धर्मालंबियों से अपील की कि सोशल मीडिया पर भड़काऊ एवं आपत्ति जनक मैसेज मिलने पर तत्काल इसकी जानकारी प्रशासन को दी जाये ताकि संबंधितों पर तत्काल सख्त कार्यवाही की जा सके। उन्होंने युवाओं को भी जागरूक करने की बात कही।