नगर पंचायत को लेकर सुगबुगाहट आरंभ

 

 

संभावित दावेदार टटोलते दिख रहे अपनी जमीन!

(फैयाज खान)

छपारा (साई)। जिले में, छपारा को मिलाकर अब तीन नगर पंचायतें हो जायेंगी। छपारा में नगर पंचायत को लेकर सुगबुगाहटें आरंभ हो गयी हैं। नगर पंचायत के संभावित उम्मीदवारों की एकाएक सक्रियता बढ़ी है। संभावित प्रत्याशी अपना – अपना जनाधार टटोलते दिख रहे हैं।

छपारा में प्रगति के सौपान देखने वाले अनेक लोगों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान छपारा की समस्याओं के बारे में अपनी पीड़ा साझा की है। लोग बताते हैं कि छपारा शहर को प्रदूषण मुक्त कराये जाने की महती आवश्यकता है। छपारा में जहाँ – तहाँ गंदगी पसरी है, जिसके चलते लोग कचरा जलाते भी दिख जाते हैं।

लोगों का कहना है कि लाखों लोगों की प्यास बुझाने वाले भीमगढ़ बांध में छपारा शहर की गंदगी मिलने से रोकने के लिये यहाँ एक ट्रीटमेंट प्लांट बनाये जाने की महती आवश्यकता है। शहर में तीन चार दशक पहले बनायी गयी नालियां भी जीर्ण शीर्ण अवस्था में हैं, इनका पुर्ननिर्माण आवश्यक हो गया है।

लोगों की मानें तो छपारा में दशकों पहले डाली गयी भूमिगत पाईप लाईन बुरी तरह जर्जर हो चुकी है, जिससे लोगों को साफ पेयजल नहीं मिल पा रहा है। इन्हें बदला जाना भी निहायत जरूरी है। इसके साथ ही साथ छपारा शहर के अंदरूनी क्षेत्रों की सड़कों का निर्माण भी प्राथमिकता के हिसाब से किया जाना चाहिये।

लोगों का कहना है कि छपारा शहर में आबादी के अंदर जितने भी कार्यालय हैं उन्हें आसपास के किसी सरकारी स्थान पर एक छत के नीचे ले जाया जाकर कार्यालय भवन बनाया जाना चाहिये, जहाँ, नगर पंचायत, तहसील सहित सभी सरकारी कार्यालयों को एक साथ रखा जाये ताकि लोगों को अपना काम करवाने के लिये यहाँ – वहाँ भटकना न पड़े।

बहरहाल, छपारा के नगर पंचायत बनने की बात को भांपकर अब नगर पंचायत में वार्डों से चुनाव लड़ने वाले या लड़वाने वाले नेताओं के द्वारा कवायद आरंभ कर दी गयी है। अब लोग सक्रियता के साथ अपना – अपना जनाधार भी तलाशते नज़र आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *