चिल्ड्रंस डे पर शिक्षक लेंगे रोज स्कूल आने की शपथ

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मध्य प्रदेश में स्कूली शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने के मकसद से रोज नए आदेश जारी किए जाने के बावजूद हालात सुधर नहीं रहे हैं। शिक्षा विभाग ने अब सभी अध्यापकों को गुरुवार को बाल दिवस के मौके पर रोज स्कूल आने की शपथ लेने का फरमान जारी कर दिया है।

राज्य की स्कूली शिक्षा की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री कमल नाथ तक अपनी चिंता जता चुके हैं। इतना ही नहीं उन्होंने विभाग को आवश्यक निर्देश भी जारी किए हैं।

इसके बाद से विभाग की ओर से शिक्षकों के लिए लगातार दिशानिर्देशों के जारी किए जाने का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में बाल दिवस के मौके पर शिक्षकों के लिए शपथ लेने के आदेश हुए हैं। लोक शिक्षण संचालनालय की आयुक्त जयश्री कियावत द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि बाल दिवस के मौके पर शिक्षक शपथ लें। उन्हें क्या शपथ लेनी है, इसका ब्योरा आदेश के साथ भेजा गया है।

बाल दिवस के मौके पर शिक्षकों को यह शपथ लेना होगा कि वे बाल हित में शिक्षा में अपना संपूर्ण योगदान देंगे, विद्यालय के विद्यार्थियों के प्रति सदैव समर्पित रहेंगे, नियमित रूप से और नियमित समय पर स्कूल आएंगे, रोज पूरी तन्मयता और नियत रूप से अध्यापन करेंगे। साथ ही विद्यार्थियों की कॉपी नियमित जांच कर सुधारात्मक कार्य करेंगे। इसके अलावा बच्चों की गुणवत्तायुक्त शिक्षा और संपूर्ण व्यक्तित्व विकास के निर्माण के लिए निरंतर प्रयास करेंगे। स्कूल को आदर्श स्कूल के रूप में विकसित करने में अपना योगदान देंगे।

राज्य के स्कूली शिक्षा विभाग में यह पहला मौका है, जब शिक्षकों को अपने काम को पूरी तन्मयता और समर्पित भाव से करने की शपथ दिलाई जा रही है। आयुक्त कियावत का कहना है कि स्कूलों में शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए शिक्षकों को बाल दिवस के मौके पर शपथ दिलाई जाएगी।