बुधवारी तालाब की सुध ले प्रशासन

 

 

पालिका स्वास्थ्य समिति के सभापति ने लगायी गुहार

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। जिला मुख्यालय में दलसागर तालाब के बाद अब बुधवारी तालाब को संरक्षित और साफ करने की माँग उठने लगी है। नगर पालिका की स्वास्थ्य समिति के सभापति चितरंजन गप्पू तिवारी के द्वारा इस संबंध में पहल की गयी है।

जिलाधिकारी को लिखे पत्र में उन्होंने कहा है कि बुधवारी तालाब के मुहाने पर शंकर मढ़िया मंदिर है तो एक ओर मस्ज़िद भी है। इन दोनों ही धार्मिक स्थलों के आसपास नीतिगत जिन दुकानों का होना वर्जित है वे दुकानें भी यहाँ लग रही हैं। यहाँ नगर पालिका कॉम्प्लेक्स में माँस और मटन की दुकानें संचालित हो रही हैं।

अपने पत्र में उन्होंने कहा है कि माँस और मटन की दुकानों के व्यापारियों के द्वारा बचे हुए अवशेषों को नगर पालिका की कचरा गाड़ी में डालने की बजाय बुधवारी तालाब में प्रवाहित किया जा रहा है, जिसके कारण बुधवारी तालाब का जल प्रदूषित हो रहा है। इससे यहाँ महामारी फैलने का खतरा सदा ही बना रहता है।

अकबर वार्ड के पार्षद चितरंजन गप्पू तिवारी ने आगे कहा है कि उनके द्वारा पूर्व में भी इस संबंध में अनेक बार पत्र व्यवहार किये जाने के बाद भी अब तक इस मामले में किसी तरह की कार्यवाही नहीं हो पायी है। उन्होंने कहा कि इन दुकानों को शहर के बाहर स्थापित किया जाये।