जिला अस्पताल के निरीक्षण हेतु शुक्रवार को आयेगा दल

 

 

निरीक्षण के उपरांत देगा अस्पताल को रैंकिंग, कर्मचारियों से कर सकता है सवाल!

(अय्यूब कुरैशी)

सिवनी (साई)। प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी के नाम से सुशोभित जिला अस्पताल में कायाकल्प अभियान में क्या कार्य किये गये हैं, इसका निरीक्षण करने एक दल जो पहले बुधवार को आना प्रस्तावित था वह अब शुक्रवार को सिवनी आ सकता है। इस दल के द्वारा अस्पताल के कार्यों का निरीक्षण किया जायेगा।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि प्रदेश भर के मुख्य अस्पतालों में कायाकल्प अभियान के तहत कराये गये कार्यों का पीयर असिस्मेंट का काम दीगर जिलों के जाँच दल के द्वारा किया जाना प्रस्तावित है।

सूत्रों ने आगे बताया कि जाँच दल के द्वारा जिला अस्पतालों में जाकर कराये गये कार्यों का निरीक्षण करने के साथ ही साथ अस्पताल की व्यवस्थाओं का निरीक्षण भी किया जाकर आंकलन किया जायेगा। इस दल के द्वारा अस्पताल परिसर के बाहर की स्थिति को भी देखा जायेगा। इसके बाद यह दल 100 में से विभिन्न घटकों में निर्धारित नंबर में से अस्पताल में कराये गये कार्यों आदि में नंबर देगा।

सूत्रों ने बताया कि इसके पहले भी जिला अस्पताल का पीयर असिस्मेंट किया जा चुका है। इसमें कभी 67 तो कभी 68 या फिर 69 नंबर जिला अस्पताल को मिले थे। पिछले साल जिला अस्पताल को महज़ 40 नंबर ही प्रदाय किये गये थे। इसके अलावा अगर 70 से ज्यादा अंक मिलते हैं तब राज्य स्तर की हाई पॉवर कमेटी आकर अस्पताल का निरीक्षण करती है।

सूत्रों ने आगे बताया कि इस दौरान अस्पताल प्रशासन को ऑपरेशन कायाकल्प के तहत निर्धारित गाईड लाईन के हिसाब से पॉवर प्वाईंट प्रजेंटेशन दिया जाना होता है। इसके बाद जाँच दल के द्वारा अस्पताल का निरीक्षण किया जाता है।

सूत्रों के अनुसार इस दौरान विभिन्न वार्ड सहित ब्हाय रोगी प्रभाग, ऑपरेशन थियेटर, प्रसूती कक्ष, ब्लड बैंक आदि में संक्रमण से बचाव के लिये अपनाये जाने वाले तौर तरीकों के अलावा बायो मेडिकल वेस्ट एवं अन्य कचरों के निष्पादन आदि की जानकारी भी प्राप्त की जाती है। कुछ स्थानों पर निरीक्षण औपचारिक ही होता है।

सूत्रों ने बताया कि निरीक्षण दल को यह निर्देश भी होते हैं कि वे इस दौरान चिकित्सकों और पेरा मेडिकल स्टॉफ से इस बात की जानकारी भी लें कि संक्रमित रूई, उपयोग किये गये ग्लव्ज़, इंजेक्शन लगाने के बाद निडिल आदि किस रंग के डिब्बे में डालना होता है।

सूत्रों ने बताया कि इस अभियान के तहत लगभग तीन सैकड़ा चैक प्वाईंट भी बनाये गये हैं, जिनके आधार पर निरीक्षण किया जाता है। इसके लिये पूर्व में बुधवार को छिंदवाड़ा का निरीक्षण दल सिवनी आने वाला था किन्तु मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के चलते अब यह दल संभवतः शुक्रवार को सिवनी पहुँचकर निरीक्षण कर सकता है।