कृपा वेस्टेज के कार्य की करवायी जाये वीडियोग्राफी!

 

हम कण्डीपार वासियों को कृपा वेस्टेज से शिकायत है जिसके द्वारा इस क्षेत्र में अत्यंत ही खतरनाक तरीके से बोयो मेडिकल वेस्ट को जलाया जा रहा है।

कृपा वेस्टेज के द्वारा जिले भर के अस्पतालों से मेडिकल वेस्ट को एकत्र करके ग्राम कण्डीपार क्षेत्र में डंप किया जाता है और फिर यहीं खुले में ही इस कंपनी के कारिंदों के द्वारा इस कचरे मेें आग लगा दी जाती है। यह जरूर है कि इस कचरे का कुछ अंश इस कंपनी के कर्मचारियों के द्वारा जमींदोज भी कर दिया जाता है लेकिन बहुत सा कचरा जो जमीन के अंदर नहीं दबाया जाता है उसे खुले में ही जला दिया जाता है।

इस कचरे को जलाने के लिये पेट्रोल डीजल का उपयोग किया जाता है। देखने वाली बात यह है कि सूखा कचरा तो जल जाता है लेकिन गीले कचरे का बहुत सा अंश नहीं जल पाता है और वह उक्त क्षेत्र में खुले में ही पड़ा रहता है। यह कचरा जब स्वतः सूखता है तब हवा में इधर उधर उड़कर ग्रामवासियों के लिये खतरे का सबब बन सकता है।

हवा में उड़ने वाले इस कचरे को देखकर, ग्रामवासी इस आशंका से भयभीत हैं कि कहीं उन्हें कोई खतरनाक बीमारी न जकड़ ले। कृपा वेस्टेज के द्वारा कचरे का निष्पादन किये जाने के लिये कौन सी शर्तें लगायी गयी हैं यह तो ग्रामवासी नहीं जानते हैं लेकिन ग्रामवासियों का यह मानना है कि उस कंपनी के द्वारा जब भी इस कचरे को ठिकाना लगाया जाये तब उसकी वीडियोग्राफी अवश्य करवायी जाये।

यदि ऐसा किया जाता है तो आला अफसरों की जानकारी में यह बात आसानी से आ जायेगी कि कृपा वेस्टेज के द्वारा किस खतरनाक हद तक लापरवाहीपूर्वक अपने कार्य को अंजाम दिया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के साथ ही साथ जिला प्रशासन से भी अपेक्ष है कि यदि कृपा वेस्टेज नामक कंपनी को इसी तरह लापरवाही करने की अघोषित छूट आगे भी दी जाती है तो कम से कम इतना अवश्य कर दिया जाये कि उसके द्वारा कचरे के निष्पादन के लिये कोई अन्य क्षेत्र का चयन किया जाये। ऐसा क्षेत्र जो रिहायशी इलाके से दूर निर्जन स्थल पर हो, यदि ऐसा कर दिया जाता है तो ग्राम कण्डीपार के निवासी भयमुक्त जीवन जी सकेंगे।

एक ग्रामवासी