12 तक हैं शादी ब्याह के शुभ मुहूर्त

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। शहर में इन दिनों बैण्ड – बाजा की धुन खूब सुनायी दे रही है, बारातें निकल रहीं हैं। इस सीजन में विवाह के काफी मुहूर्त हैं। दिसंबर में 12 तारीख तक विवाह के आयोजन होंगे। शहर में तीन दिन के ब्रेक के बाद गुरुवार को शहनाई गूंजी।

देर रात तक बैण्ड, बाजा और बारात के निकलने का सिलसिला जारी रहा, सड़कों पर भीड़ रही। बाराती सड़कों पर जमकर नाचे। इसके कारण कुछ मार्गों पर जाम के हालात भी बने। बारात में आतिशबाजी से रात को आसमान में कई बार रंगीन प्रकाश नज़र आया। पटाखों की गूंज भी सुनायी दी। इस वर्ष देवउठनी एकादशी पर विवाह के मुहूर्त न होकर विवाह की शुरुआत कुछ विलंब से हुई।

उसके बाद भी इस माह माँगलिक कार्यों के लिये मुहूर्त कम रह गये हैं। 19 नवंबर से आरंभ हुए विवाह के मुहूर्त 24 नवंबर तक थे। उसके बाद तीन दिन के ब्रेक के बाद अब महीने के अंतिम दो दिन में मुहूर्त हैं। गुरुवार को ही सड़कों पर बारात और मण्डप विवाह के लिये फिर सज गये।

दिसंबर के पहले पखवाड़े में भी माँगलिक कार्यों के लिये मुहूर्त हैं। 01 दिसंबर को विवाह का मुहूर्त होने के कारण नवंबर समाप्त होने के बाद भी विवाह का सिलसिला जारी रहेगा। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार दिसंबर में लगभग पाँच मुहूर्त श्रेष्ठ हैं। महीने की पहली तारीख से लेकर 12 दिसंबर के बीच माँगलिक कार्य के लिये कुछ श्रेष्ठ मुहूर्त हैं। इन तिथियों पर मैरिज हॉल, बैण्ड, डेकोरेशन, कैटरर्स बुक हो चुके हैं।

एक महीने के लिये रोक : दिसंबर के पहले पखवाड़े में विवाह के बाद माँगलिक कार्यों पर रोक लग जायेगी। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार 13 दिसंबर से खरमास लग जायेगा। इस अवधि में कोई भी शुभ और माँगलिक कार्य नहीं होंगे। मकर संक्रांति तक खरमास रहेगा। उसके बाद पुनः माँगलिक कार्यों की शुरुआत होगी।