अब भी रुला रहा है प्याज

 

(वाणिज्य ब्यूरो)

सिवनी (साई)। पेट्रोल और डीज़ल की कीमतें तेज होने का असर वाहनों के भाड़े पर पड़ा है। गुपचुप तरीक से इन्हें बढ़ा दिया गया है। ऐस में माल की कीमत भी तेज हो गयी हैं।

जानकारों का कहना है कि सिवनी में बाहर से आने वाले वाहनों से ज्यादा राज्य के अंदर संचालित लोडिंग वाहनों का भाड़ा ज्यादा हो गया है। प्रदेश में दूसरे राज्यों की तुलना में ईंधन महंगा है। इसलिये वह व्यापारियों से बढ़कर किराया लेते है। व्यापारी भी इस कीमत को वस्तुओं में समाहित कर देता है। वहीं दूसरे राज्यों में पेट्रोल और डीज़ल दोनों ही अपेक्षाकृत सस्ते हैं। इसलिये उनका भाड़ा ज्यादा नहीं बढ़ा है।

बाज़ार सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि नयी प्याज की कीमत 50 से 70 रुपये के बीच बनी हुई है। पुरानी के भाव 80 से 120 के बीच हैं। बरसात में प्रमुख सब्जियों के दाम 30 से 40 रुपये किलो के बीच रहे। अभी भी पालक, लाल भाजी, लौकी, कुम्हड़ा, भटा जैसी सब्जियों को छोड़कर बाकी की कीमतें पहले से ज्यादा हो गयी हैं।

सूत्रों ने बताया कि अदरक और लहसुन की कीमत भी नीचे नहीं आयीं। यही हाल शक्कर और अनाज का है। नयी उपज आने के बाद भी चावल की कीमत ज्यादा बनी हुई है। तेल की कीमत में भी तेजी आयी है। सोयाबीन तेल भी 03 से 04 रुपये महंगा हुआ है। इसी प्रकार सरसो और मंूगफली तेल भी पहले से ज्यादा महंगा मिल रहा है।