ज़की अनवर की जन्म जयंति भूल गयी काँग्रेस!

 

काँग्रेस जिलाध्यक्ष के बेहद करीबी रहे थे ज़की अनवर खान

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। जिला काँग्रेस कमेटी में अंदर ही अंदर असंतोष का लावा खदबदाता दिख रहा है। इसका कारण यह है कि वर्तमान में जिले की काँग्रेस के द्वारा अपना जीवन काँग्रेस को समर्पित करने वाले खालिस काँग्रेसी नेताओं के अवसान के बाद उन्हें बिसारा जा रहा है।

जिला काँग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं प्रवक्ता रहे वरिष्ठ अधिवक्ता ज़की अनवर खान की 01 जनवरी को जन्म जयंति थी। जिला काँग्रेस कमेटी के द्वारा उन्हें याद करने या श्रृद्धा सुमन अर्पित करने की जहमत तक नहीं उठायी गयी है। यह बात काँग्रेस के नेताओं के बीच जमकर चल रही है।

ज्ञातव्य है कि जकी अनवर खान का निधन काँग्रेस के प्रवक्ता और वरिष्ठ उपाध्यक्ष रहते हुए जिला अस्पताल में हुआ था। उनके निधन के बाद जिला काँग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज कुमार खुराना के द्वारा उनके उपचार में लापरवाही के आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री से इसकी शिकायत की गयी थी। लगभग नौ माह बीत जाने के बाद इस शिकायत में क्या हुआ, इस बारे में न तो अस्पताल प्रशासन ने और न ही जिला काँग्रेस कमेटी के द्वारा आधिकारिक तौर पर किसी तरह का वक्तव्य जारी किया गया है।

काँग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने पहचान उजागर न करने की शर्त पर समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान कहा कि ज़की अनवर खान को जिला काँग्रेस कमेटी अध्यक्ष राज कुमार खुराना का बेहद करीबी माना जाता था, इस लिहाज़ से सभी को इस बात की उम्मीद थी कि जिला काँग्रेस कमेटी के द्वारा ज़की साब को उनके जन्म दिवस के अवसर पर काँग्रेस के द्वारा याद अवश्य किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि इसी तरह जिला काँग्रेस कमेटी के द्वारा जिले की बेटी, प्रदेश में विभिन्न विभागों की कैबिनेट मंत्री, प्रदेश काँग्रेस कमेटी की अध्यक्ष एवं हिमाचल की राज्य पाल रहीं स्व.श्रीमति उर्मिला सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह को भी याद नहीं किया गया। इतना ही नहीं जिला काँग्रेस अध्यक्ष रहते हुए हीरा आसवानी का निधन हुआ था, उन्हें भी काँग्रेस के द्वारा बिसार दिया गया एवं घंसौर के वरिष्ठ काँग्रेसी नेता आलोक बाजपेयी के निधन पर भी शोक संवदनाओं के रूप में दो शब्द कहने की फुर्सत भी जिला काँग्रेस को न मिल पाना आश्चर्य जनक ही माना जा रहा है।