नैरोगेज बंद होने के तीन साल बाद भी काम नहीं हुआ पूरा

 

(ब्यूरो कार्यालय)

छिंदवाड़ा (साई)। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे नागपुर मंडर के तहत छिंदवाड़ा नैनपुर मंडला फोर्ट परियोजना की रफ्तार बजट के अभाव में धीमी पड़ गई है।रेलवे निर्माण विभाग के अधिकारियों के मुताबिक छिंदवाड़ा से नैनपुर तक कुल करीब 140 किमी का रेलमार्ग का काम 70 फीसदी पूरा हो गया है। विभाग ने रेलवे से नए विशेष वर्ष में चार सौ करोड़ रुपए की डिमांड की है।

हालांकि बीते वित्तीय वर्ष में डिमांड के अनुसार बजट न मिलने से परियोजना के काम धीमे चल रहे है। बजट के अभाव में परियोजना के काम बंद कर दिए गए हैं। वहीं दूसरी ओर रल अधिकारियों का कहना है कि बजट के अभाव में काम की रफ्तार धीमी हो गई। मार्च 2020 तक रेलवे ने छिंदवाड़ा से नैनपुर तक काम पूरा करने का लक्ष्य रखा है, लेकिन ऐसा ऐसा फिलहाल होता दिखाई नहीं दे रहा है।

गौरतलब है कि 2010 में छिंदवाड़ा नैनपुर मंडला फोर्ट रेल परियोजना का प्रस्ताव स्वीकृत हुआ था, नैनपुर से जबलपुर कुल 125 किमी रेलमार्ग पर ट्रेन का परिचालन किया जा रहा है। अब नैनपुर से सिवनी होते हुए छिंदवाड़ा रेल मार्ग का काम पूरा होना है। ये काम पूरा होते ही छिंदवाड़ा सिवनी, नैनपुर होते हुए जबलपुर तक ट्रेन मिलेगी। रेलवे अधिकारियों के अनुसार नैनपुर से छिंदवाड़ा का 70 फीसदी ही काम पूरा हो सका है।