दो मंत्रियों के OSD की हुई छुट्टी

आरती दयाल और मोनिका के साथ बना वीडियो, सरकार ने की छुट्टी

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। हनीट्रैप मामले में चार्जशीट दाखिल होने के बाद वर्तमान सरकार के दो दिग्गज मंत्रियों के पीएम के नाम भी सामने आए थे। इन पर आरोप था कि आरती दयाल और मोनिका के साथ दोनों के वीडियो हैं। जिसमें खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल के पीए अरुण निगम और खाद्य आपूर्ति मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर के पीए का नाम था। दोनों मंत्रियों के OSD पर गाज गिर गई है।

समान्य प्रशासन विभाग ने इससे संबंधित अधिसूचना जारी कर दी गई। मंत्री प्रदीप जायसवाल के पीए अरूण निगम को मंत्री के यहां से हटा दिया गया। फिर से उन्हें वापस उनके मूल विभाग में भेज दिया गया है। अरूण निगम को उनके पैतृक विभाग अनुसूचित जाति कल्याण विभाग को लौटा दी गई है। यह अधिसूचना चार जनवरी को जारी हुई थी।

हरीश खरे पर भी गिरी गाज

हनीट्रैप में खाद्य आपूर्ति मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर के OSD हरीश खरे का भी नाम सामने आया था। अरूण निगम के बाद हरीश खरे को भी हटा दिया गया है। उन्हें भी उनके मूल विभाग में वापस भेज दिया गया है। मोनिका ने कहा था कि हरीश खरे ने शराब पीने के बाद मेरे साथ संबंध बनाए थे। इन दोनों ने उस वक्त खुद का परिचय सीनियर अधिकारी के रूप में दिया था।

अरुण निगम ने खुद को बताया था माइनिंग अधिकारी

दरअसल, दोनों मंत्रियों के OSD का नाम सीआईडी द्वारा दाखिल चार्जशीट में सामने आया था। मोनिका ने कहा कि रात को दस बजे अरुण निगम अपने साथी हरीश खरे के साथ आरती दयाल के फ्लैट मीनाल रेसीडेंसी में आए थे। अरूण निगम ने खुद का परिचय माइनिंग अधिकारी के रूप में दिया था। उसके बाद आरती और मोनिका के साथ अरुण और हरीश ने ड्रिंक लिया था।

आरती दयाल के साथ बना वीडियो

चार्जशीट के अनुसार ड्रिंक के बाद अरुण निगम और आरती दयाल कमरे में चले गए। इस दौरान अरुण का आरती दयाल के साथ वीडियो बन गया। वीडियो के जरिए आरती दयाल ने अरुण निगम से कई काम निकलवाए। यहीं नहीं वीडियो बनने के बाद उसी रात हनीट्रैप की दूसरी आरोपी श्वेता विजय जैन और रूपा भी फ्लैट पर पहुंचे थे।