एक बार, मैं टिकेट की लाइन में लगा हुआ था तभी एक हट्टा-तगड़ा सरदारआता है और मुझे हटने के लिए कहता है . 

मैं -मैं क्यों हटू ?

सरदार -हट जा नहीं तो .. 

मैं – नहीं तो क्या ?

(सरदार मुझे एक झापड़ मार देता है)

मैं – सरदार जी, आपने ये झापड़ मजाक में तो नहीं मारा है ना ?

सरदार -नहीं ?

मैं – ठीक है,तब कोई बात नहीं . 

सरदार -तुम ऐसा क्यों पूछ रहे ?

मैं – क्योंकि मुझे मजाक पसंद नहीं .

एक दिन वही सरदार जी मुझे मिल गए एक ऊँचे पहाड़ के ऊपर बैठकर पढाई कर रहे थे . 

मैंने, उनसे पुछा, – क्या कर रहे हो

सरदार जी ने जवाब दिया, हायर स्टडीज