देश को महात्मा गांधी के विचारों की जरूरत : नाथ

 

(ब्यूरो कार्यालय)

छिंदवाड़ा (साई)। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने जिला मुख्यालय पर एसएएफ मैदान पर गांधी प्रवास यात्रा के शताब्दी वर्ष कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि देश को आज भी महात्मा गांधी के विचारों की जरूरत है और इसी के आधार पर देश आगे बढ़ सकता है।

उन्होंने कहा कि देश को तोड़ने वाले की नहीं जोड़ने वालों की जरुरत है। उन्होंने कहा कि गांधी जी के आदर्शाे और सिद्धांतों से आने वाली पीढी को अवगत कराने उनके 150 वीं जयंती तथा छिंदवाड़ा में उनके 6 जनवरी को आगमन के 99 वें वर्ष पूर्ण होकर शताब्दी साल शुरू हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अहिंसा, सामाजिक सौहाद्रर्ता, अस्पृश्यता का विरोध करने के गांधीवादी तरीको से युवा पीढी को अवगत कराना प्रासंगिक बन गया है।

इस अवसर पर जिले भर से आए पच्चीस हजार से अधिक लोगों ने सामूहिक रुप से महात्मा गांधी के प्रिय भजन वैष्णव जन तो….गाकर गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के साथ प्रसिद्ध गांधीवादी पीवी राजगोपाल एवं जय जगत यात्रा के पदयात्रियो के अलावा सांसद नकुल नाथ और मंत्री जीतू पटवारी, प्रभुराम चौधरी, ओमकार मरकाम, सुखदेव पांसे भी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर गांधी प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। इसके साथ ही नगर निगम द्वारा बनाई गई गौशाला का भी उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने गौशाला की साफ सफाई के साथ ही इसके द्वारा जो सह उत्पाद का निर्माण किया जा रहा है, उसकी सराहना की।

गांधी की आदमकद प्रतिमा स्थापित

गांधीगंज में जहां 6 जनवरी 1921 को अली बंधुओं के आह्वान पर महात्मा गांधी आए थे, उस जगह पर गांधी जी की आदमकद प्रतिमा स्थापित की गई है जो पहले फव्वारा चौक पर स्थापित की गई इस दौरान नगर निगम की ओर से व्यवस्था बनाई गई।

मैं 2020 नहीं 2050 विजन देखता हूं : नकुलनाथ

छिंदवाड़ा सांसद नकुलनाथ ने कहा कि मैं जिले के विकास को लेकर प्रतिबद्ध हूं, मेरा विजन 2020 का नहीं बल्कि 2050 का रहता है। जिले का विकास तेज गति से होने के साथ ही स्थाई भी होना चाहिए। छिंदवाड़ा में सोमवार को होने वाले कार्यक्रम को लेकर श्री नाथ ने कहा कि युवा पीढ़ी को इसकी बहुत आवश्यकता है कि वो हमारी संस्कृति को समझें।