पालिका ने निकाल दी 2019 की ये ठण्ड बिना अलाव के!

 

नये साल में 05 तारीख से आरंभ हुई अलाव की लकड़ी गिरना आरंभ

(सादिक खान)

सिवनी (साई)। सिवनी में बिदा लेते वर्ष 2019 की आखिरी 31 दिसंबर की रात को कड़कड़ाती सर्दी और बारिश के बीच नये साल का स्वागत करने वालों का उत्साह बहुत ज्यादा नहीं दिखा। 2019 में साल के अंत में पड़ने वाली सर्दी से बेपरवाह नगर पालिका परिषद के द्वारा अलाव की व्यवस्था करना मुनासिब नहीं समझा।

नगर पालिका परिषद हर साल जनवरी माह में ही अलाव के लिये लकड़ी की व्यवस्था कर शहर में चिन्हित स्थानों पर इसे उपलब्ध कराती है। अलाव के अभाव में दांत किटकिटाने वाली सर्दी में लोग कचरा बीनकर उसे जलाते हुए ही रात में सर्दी भगाने पर मजबूर दिखे।

लोगों का कहना है कि साल के अंत में तापमान गिरना आरंभ हुआ, फिर भी निष्ठुर बना पालिका प्रशासन नहीं पसीजा। पालिका के द्वारा नये साल में पाँच दिनों के बाद अलाव के लिये लकड़ी की व्यवस्था की गयी, जिससे लोगों को राहत मिली है।

शहर के चौक – चौराहों के साथ ही अन्य सार्वजनिक स्थलों पर नगर पालिका के द्वारा अलाव की व्यवस्था न किये जाने से रात के समय में रिक्शॉ – ऑटो चालकों आदि को नये साल में भी ठण्ड से ठिठुरते ही देखा गया। लोग यही शिकायत करते मिले की भाजपाई नगर पालिका ने हर साल की तरह वर्ष 2019 की ये ठण्ड बिना अलाव की व्यवस्था किये ही निकाल दी।

पालिका के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि अलाव के लिये लकड़ी क्रय करने के लिये पालिका को प्रेसीडेंट इन कॉउंसिल (पीआईसी) से अनुमोदन के उपरांत अन्य कागजी कार्यवाही करना पड़ता है, इसलिये हर साल विलंब हो जाता है। इसके लिये अगर समय रहते पालिका के अधिकारियों के द्वारा सारी प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाये तो शायद ही कभी इस तरह की स्थिति निर्मित हो, जिसमें अलाव के बिना चौक – चौराहे पर लोगों को ठिठुरने पर मजबूर होना पड़े।