निर्भया की मां बोलीं- मेरी बेटी को मिल गया न्याय

 

(ब्यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप के चारों दोषियों के खिलाफ डेथ वॉरंट जारी कर दिया है। लंबे समय से न्याय का इंतजार कर रहे निर्भया के परिवार ने इस पर संतोष जताया है। निर्भया की मां आशा देवी ने कहा, ‘मेरी बेटी को न्याय मिल गया। इन चारों दोषियों को फांसी की सजा मिलने से देश की महिलाओं को ताकत मिलेगी। इस फैसले से लोगों का न्याय व्यवस्था में विश्वास बढ़ेगा।

निर्भया की मांग ने कहा कि दोषियों को फांसी देने से अपराधी डरेंगे। उन्होंने कहा कि पूरे देश को बधाई जो लोग उनके साथ खड़े रहे। कोर्ट ने लंबी सुनवाई के बाद चारों दोषियों का डेथ वॉरंट जारी किया है। 22 जनवरी को सुबह सात बजे तिहाड़ जेल में उन्हें फांसी दी जाएगी। चारों दोषी विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जज के सामने पेश हुए थे। 2012 के गैंगरेप केस के बाद पूरे देश में प्रदर्शन हुए थे और कोर्ट के इस फैसले पर लोगों ने खुशी जाहिर की है।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने ट्वीट किया सत्यमेव जयते।उन्होंने कहा, ‘मैं इस फैसले का स्वागत करती हूं। यह देश की सभी निर्भया की जीत है। मैं निर्भया के माता-पिता को सलाम करती हूं जिन्होंने इतनी लंबी लड़ाई लड़ी। इन लोगों को सजा देने में सात साल क्यों लगे? क्या इसका समय कम नहीं हो सकता?’

क्या बोले निर्भया के पिता?

निर्भया के पिता बद्रीनाथ सिंह ने कहा, ‘कोर्ट के फैसले से मैं खुश हूं। दोषियों को 22 जनवरी को सुबह सात बजे फांसी दी जाएगी। इस फैसले से ऐसे अपराध करने वाले लोगों में डर पैदा होगा।पंजाब महिला आयोग कि अध्यक्ष मनीषा गुलाटी ने कहा, ‘अब निर्भया की आत्मा को शांति मिल गई। यह बहुत ही अच्छा फैसला है।

दोषियों के वकील ने कहा, फिर जाएंगे सुप्रीम कोर्ट

निर्भया के दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा, ‘हम सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटिशन फाइल करेंगे। सुप्रीम कोर्ट के पांच जज इस पर सुनवाई करेंगे। शुरू से ही इस केस में मीडिया और जनता के साथ पॉलिटिकल प्रेशर था। इस मामले में निष्पक्ष जांच नहीं हो सकी।‘