मंगलवार को नहीं हुई केंद्र में धान खरीद!

 

बाज़ार का दिन इसलिये बंद कर दी धान की सरकारी खरीद!

(ब्यूरो कार्यालय)

कान्हीवाड़ा (साई)। जिला प्रशासन के द्वारा भले ही किसानों से खरीदे जाने वाली धान के मामले में किसानों को किसी तरह की परेशानी न होने के निर्देश दिये गये हों पर जिले भर के खरीद केंद्रों में किसान अनेक समस्याओं से जूझते ही नज़र आ रहे हैं। नंबर आने के बाद भी हफ्तों तक उनकी धान को नहीं खरीदा जा रहा है।

जिला आपूर्ति विभाग के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान कहा कि खरीद केंद्रों को सप्ताहांत में शनिवार या रविवार को ही बंद रखा जा सकता है। सप्ताह के मध्य में तीज त्यौहारों, सरकारी अवकाश को छोड़कर किसी भी स्थिति में बंद नहीं रखा जा सकता है।

इसके बावजूद भी मंगलवार को कान्हीवाड़ा का सरकारी धान खरीद केंद्र बंद रहा। जिम्मेदारों से जब इसका कारण पूछा गया तो उनके द्वारा दो टूक शब्दों में यह कह दिया गया कि मंगलवार को कान्हीवाड़ा में बाज़ार का दिन रहता है इसलिये खरीद केंद्र को बंद कर दिया गया है।

मौके पर मिले अनेक किसानों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान कहा कि वे पिछले महीने की 19 तारीख के बाद अपनी धान बेचने के लिये लाईन में लगे हैं। किसानों का आरोप था कि खरीद केंद्र प्रभारी के द्वारा कई तरह की बहानेबाजी की जाकर उनकी धान को खरीदने में विलंब किया जा रहा है।

किसानों की मानें तो वैसे भी साल के अंतिम दिनों से अभी तक मौसम के मिज़ाज बिगड़े हुए हैं। इन स्थितियों में किसान अपनी धान को बारिश पानी से बचाने के लिये तरह – तरह की जुगत लगाते दिख रहे थे। उन्होंने बतया कि खरीद केंद्र प्रभारी सुदामा भारद्वाज के निर्देश पर मंगलवार को खरीद बंद की गयी थी।

किसानों ने बताया कि जब उनके द्वारा खरीद केंद्र प्रभारी की अनुपस्थिति में उनसे मोबाईल पर संपर्क करने का प्रयास किया गया तो सुदामा भारद्वाज ने खुद को जनपद पंचायत में कुछ व्यस्तताओं का हवाला देकर किसानों का फोन काट दिया।

इधर, खरीद केंद्र प्रभारी का कहना था कि जिस दिन खरीद केंद्र वाले क्षेत्र में बाज़ार भरता है उस दिन खरीद नहीं की जाती है। उनसे जब किसानों के लिये छाया, चाय पानी आदि की व्यवस्था न होने की बात कही गयी तो उन्होंने बताया कि बाज़ार के दिन कैंटीन वाले भी नहीं आते इसलिये किसी तरह की व्यवस्था करना मुश्किल होता है।

शनिवार-रविवार के अलावा किसी और दिन खरीदी बंद रखने का कोई प्रावधान नहीं है. मंगलवार को खरीदी बंद रही है तो इस पर सख्त कार्यवाही की जायेगी. किसानों की सुविधाओं का ध्यान रखा जाना चाहिये.

सनत कुमार मिश्रा,

जिला आपूर्ति अधिकारी.