कैलाश विजयवर्गीय के ‘करीबी’ हैं ये गुंडे

 

इन पर हुई कार्रवाई तो वो तिलमिला गए, कांग्रेस जारी की सबकी सूची

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। प्रदेश में माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई अब राजनीतिक जंग में तब्दील होते जा रही है। एक तरफ बीजेपी के तमाम दिग्गज नेता सड़कों पर उतरने की चेतावनी दे रहे हैं तो दूसरी तरफ कांग्रेस ने कैलाश विजयवर्गीय से सुलगते सवाल पूछ लिए हैं।

इंदौर को जला देने की धमकी से सुर्खियों में आए बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। एक तरफ उन पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है तो वहीं कांग्रेस उन पर लगे घोटालों की फेहरिस्त सामने लाकर बीजेपी और कैलाश विजयवर्गीय से सवाल पूछ रही है। कैलाश के बयान के बाद बीजेपी बैकफुट पर चली गई थी लेकिन कैलाश ने नीमच में एक बार फिर अफसरों को चेताया। इसके बाद जब सरकार की ओर से भी हुंकार भरी गई तो फिर शिवराज सिंह चौहान और गोपाल भार्गव ने भी सरकार को चेतावनी दी कि कार्रवाई की आड़ में जो बीजेपी कार्यकर्ताओं से बदला लिया जा रहा है उसका विरोध अब सड़कों पर उतरकर किया जाएगा।

कैलाश से कांग्रेस के सवाल

1.कैलाश विजयवर्गीय बताए युवराज उस्ताद कौन है, किसका समर्थक है, किसके साथ सार्वजनिक होर्डिंग-पोस्टर पर नजर आता है ? यह देशभक्त है या माफिया ?

  1. हेमंत यादव कौन है, किसका समर्थक है, किसके साथ होर्डिंग-पोस्टर पर नजर आता है ? यह देशभक्त है या माफिया ?
  2. मुन्ना डॉक्टर कौन है, किसका समर्थक है ? यह क्या देशभक्त है ?
  3. जीतू यादव कौन है, किसका समर्थक है ? किसके साथ सार्वजनिक होर्डिंग-पोस्टर पर नजर आता है ? देशभक्त है या माफिया ?
  4. ताई सहित ख़ुद भाजपा के ही कई नेता अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को माफ़ियाओं का संरक्षक बताते हैं ?

इतना ही नहीं सलूजा ने कैलाश विजयवर्गीय को कुछ घोटालों की सूची भेज पूछा कि आपके मंत्री व महापौर कार्यकाल के दौरान यह घोटाले हुए हैं, आप बताएं कि इन घोटालों में किसकी भूमिका है ?

घोटालों का जिम्मेदार कौन ?

  1. पेंशन घोटाला
  2. सिंहस्थ घोटाला
  3. नवरतन बाग घोटाला
  4. पाइप घोटाला
  5. नलकूप खनन घोटाला
  6. प्लास्टिक पेड घोटाला
  7. ड्रिप घोटाला

हालांकि कांग्रेस की इन धमकियों पर गोपाल भार्गव ने कहा कि जनप्रतिनिधियों को अगर ऐसे ही प्रताड़ित किया तो हम सड़कों पर उतरेंगे और संघर्ष में सरकार जाने की स्थिति आ जाएगी।

कुल मिलाकर कांग्रेस के रडार पर अब कैलाश विजयवर्गीय भी आ चुके हैं। एक तरफ शिवराज और गोपाल भार्गव सड़कों पर उतरने की धमकी दे रहे हैं। देखना यही है कि क्या कैलाश कांग्रेस के सवालों का जवाब देंगे और ये धमकी भरा ये खेल कब तक चलता रहेगा।