बंद रहे मोबाईल प्रतिष्ठान

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। अखिल भारतीय मोबाईल एसोसिएशन एवं भारतीय खुदरा व्यापार संगठन के द्वारा ऑनलाईन कारोबारियों की अनैतिक कारोबार नीतियों के खिलाफ सिवनी मोबाईल एसोसिएशन के द्वारा बुधवार 08 जनवरी को आंदोलन कर अपने प्रतिष्ठानों को बंद रखा गया।

उक्त बंद के निर्णय के बारे में बताया गया है कि ऑनलाईन बनाम विदेशी कारोबारियों द्वारा देश के घरेलू एवं स्वदेशी व्यापार को समाप्त करने की मंशा से लागत मूल्यों से कम, अनावश्यक डिस्काउंट जैसी सेल लाकर अनैतिक खेल खेला जा रहा है। इसके कारण सिवनी जिले की 40 से 50 रिटेल स्टोर दुकानें बंद हो चुकी हैं।

इन परिस्थितियों में रिटेल स्टोर एवं दुकानों से अपनी आजीविका चलाने वाले लोग रोजी रोटी से बेगार हो गये हैं। इस बंद का उद्देश्य किसी का विरोध न होकर अपने अधिकारों के लिये अपनी आवाज बुलंद करते हुए भारत सरकार से अनेक माँगे की गयी हैं।

यूनियन की प्रमुख माँगों में ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा अनैतिक तरीके से दी जाने वाली ऑनलाईन डिस्काउंटिंग को बंद करने, ई-कॉमर्स कंपनियों को नियंत्रित करने के लिये एक रेग्युलेटरी एथॉरिटी बनाये जाने, फ्लिपकार्ड व अमेजन ने जो अब तक प्रेस नोट-2 का उल्लंघन कर जो एफडीआई फण्ड का दुरुपयोग किया है उसकी जाँच करवाने, कैश ऑन डिलीवरी जैसी हरकतों पर रोक लगाने, व्यापारियों को 10 लाख तक का लोन बिना किसी गारंटी उपलब्ध कराये जाने, ब्रांड्स ई-कॉमर्स को देने वाले अपने एक्सक्लुसिव्ह प्रोडक्ट्स को किया जाये, ऑनलाईन और ऑफलाईन में भाव फर्क बंद करवाये जायें।

बुधवार को किये गये बंद को लेकर आयोजक सिवनी मोबाईल एसोसिएशन के अध्यक्ष नवल ठाकुर, सचिव प्रकाश पप्पू माधवानी, उपाध्यक्ष आशीष चौरसिया, राजा हेडाऊ शशांक पारकर सहित सभी मोबाईल विक्रेता एवं टेलीकॉम से जुड़े मोबाईल कंपनियों के वितरकों का सहयोग रहा।