भाजपा ने नागरिकों को बताया सीएए के बारे में

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। नागरिकता संशोधन कानून देश के लिये कोई नया नहीं है। काँग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों में भी कानून में संशोधन हुए है। पं.नेहरू (05 नवंबर 1950 संसद मंे वक्तव्य) से लेकर डॉ.मनमोहन सिंह (18 दिसंबर 2003 राज्य सभा) तक काँग्रेस के अनेक नेताओं के नागरिकता कानून के समर्थन में बहुत वक्तव्य हैं, लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने कभी भी राजनीति से प्रेरित होकर विरोध नहीं किया।

उक्त आशय की बात सांसद डॉ.ढाल सिंह बिसेन द्वारा नगर में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर चलाये जा रहे जन जागरण अभियान के तहत नगर संपर्क के पश्चात स्थानीय बस स्टैण्ड के निकट आयोजित एक नुक्कड़ सभा के दौरान कही गयी।

डॉ.बिसेन ने कहा कि सभी जानते हैं कि पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में रह रहे अल्पसंख्यकों पर वहाँ जुल्म और अत्याचार हो रहे हैं, वे मदद के लिये भारत की ओर देखते हैं। उनका सहयोग करना भारत का कर्त्तव्य है। महात्मा गांधी ने भी 26 सितंबर 1947 की प्रार्थना सभा में इस बात का उल्लेख किया था कि पाकिस्तान में प्रताड़ित हो रहे अल्पसंख्यकों की मदद की जाना चाहिये।

डॉ.बिसेन ने कहा कि दुर्भाग्यवश विपक्ष भारतीय जनता पार्टी के हर उस काम का विरोध करता है, जिसे जनहित में लिया गया है। सिर्फ विरोध के लिये विरोध की राजनीति से प्रेरित होकर विपक्ष दुष्प्रचार के अभियान में जुटा हुआ है। यही वजह है कि, सीएए में जिन बातों का उल्लेख ही नहीं है विपक्ष उसे कानून का हिस्सा बता रहा है। उन्होंने कहा कि हमें सजग और सतर्क होकर जनता तक कानून की सच्चाई पहुँचानी है।

सांसद बिसेन ने कहा कि मैं समस्त जिले वासियों से कहता हूँ कि नागरिकता संशोधन कानून किसी भी भारतीय नागरिक के लिये नहीं है बल्कि यह बाहर से आये शरणार्थियों को नागरिकता देने के संबंध में है अतः वे किसी भी भ्रम और और गलतफहमी जैसे दुष्प्रचार में न आयें एवं इस कानून की सच्चाई को जानें।

भाजपा मीडिया प्रभारी श्रीकांत अग्रवाल ने बताया कि नगर अध्यक्ष नरेंद्र गुड्डू ठाकुर द्वारा आयोजित नगर जन संपर्क अभियान में शुक्रवारी चौक से प्रारंभ होकर नेहरू रोड होते हुए बुधवारी बाज़ार होकर नगर पालिका चौक से जन संपर्क अभियान लक्ष्मी नारायण मंदिर पहुँचा जहाँ सांसद ढाल सिंह बिसेन के द्वारा नुक्कड़ सभा को संबोधित किया गया और नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 के बारे में जानकारी दी गयी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *