डिस्पोजल और गंदगी पाए जाने पर वसूला 25000 का जुर्माना

 

सिंगल यूज प्लास्टिक व पॉलिथीन का उपयोग ना करने के दिए निर्देश

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल को स्वच्छता में नंबर वन बनाने के लिए नगर निगम सफाई अभियान के तहत निरीक्षण कार्रवाई शुरू कर दी है। गुरुवार को नगर निगम की टीम ने शहर में साफ-सफाई का निरीक्षण किया। इस दौरान बरखेड़ा पठानी वार्ड क्रमांक 56 में शराब की दुकान के पास डिस्पोजल और गंदगी पाए जाने पर नगर निगम ने 25000 रुपए का जुर्माना वसूल किया।

स्वास्थ्य अधिकारी एवं जोनल अधिकारी ने देसी शराब दुकान का निरीक्षण किया और डिस्पोजल व गंदगी पाए जाने पर जुर्माना वसूला। नगर निगम भोपाल द्वारा इस प्रकार की कार्यवाही लगातार की जा रही हैं। सिंगल यूज प्लास्टिक व पॉलिथीन का उपयोग ना करें, शहर को साफ स्वच्छ बनाने में मदद करें ताकि स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में भोपाल अब्बल नंबर पा सके। नगर निगम की टीम स्वच्छता को लेकर एक्टिव हो गई है। इसकों लेकर गंदगी फैलाने वालों पर कार्यवाही भी तेज कर दी है।

स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 का शुभारंभ 4 जनवरी से हो गया है। स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में देश के दूसरे शहरों की तर्ज पर स्वच्छता का जायजा लेने के लिए भोपाल नगर निगम की टीम पहले से ही निरीक्षण कर कार्यवाही करना शुरू कर दिया है ताकि सर्वक्षण से पहले शहर को स्वच्छ बनाया जा सका। स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर नगर निगम प्रशासन इस बार कोई कसर छोड़ने को तैयार नहीं है। इसके लिए वार्ड स्तर पर भी निगरानी की जा रही है।