जेएनयू हिंसा: BJP के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी का बड़ा हमला

 

(ब्यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने गुरुवार को जेएनयू हिंसा मामले में सरकार से वीसी जगदीश कुमार को हटाने को कहा है।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में शिक्षा मंत्री रहे जोशी ने कहा कि सरकार ने जेएनयू फीस मुद्दे को सुलझाने के लिए दो बार वीसी से कहा था। उन्होंने ट्वीट किए एक पत्र में लिखा कि- यह चौंकाने वाला है कि वीसी सरकार के प्रस्ताव को लागू नहीं करने के लिए अड़े रहे। यह रवैया निंदनीय है और मेरी राय में इस तरह के वीसी को पद पर बने रहने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

बता दें कि जेएनयू में नकाबपोश हमलावरों द्वारा की गई मारपीट के बाज वीसी जगदीश कुमार को देशभर से आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल बीते रविवार को कुछ नकाबपोश लोगों ने विश्वविद्यालय में घुसकर छात्रों के साथ जमकर मारपीट की। ऐसे में वीसी जगदीश कुमार पर समय रहते पुलिस को सूचित न करने के आरोप लग रहे हैं।

उधर विश्वविद्यालय में हुए इस हमले के विरोध में छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं। गुरुवार को वीसी जगदीश कुमार को हटाए जाने की मांग कर रहे छात्रों ने राष्ट्रपति भवन तक मार्च करने का ऐलान किया। हालांकि, इस दौरान दिल्ली पुलिस ने छात्रों को खदेड़ते हुए हिरासत में ले लिया। पुलिस द्वारा कई छात्रों को पीटा भी गया, जिसमें वे घायल हो गए। पुलिस ने छात्रों से शांति बनाए रखने की अपील की। कुछ छात्रों ने कनॉट प्लेस में सड़क किनारे खड़े होकर नारेबाजी भी की। उन्होंने वीसी जगदीश कुमार के खिलाफ नारे लगाए। छात्रों के इस प्रदर्शन की वजह से जनपथ पर जाम की भी स्थिति हो गई। सीपी के इनर सर्किल पर ट्रैफिक रुक गया। वहीं, जनपथ से केजी मार्ग आने वाली सड़क पर लंबा जाम लग गया।

इससे पहले जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आयशी घोष ने कहा कि एमएचआरडी के अधिकारियों से बैठक असंतोषजनक रही और फिर उन्होंने राष्ट्रपति भवन की और मार्च की घोषणा कर दी।