विंग कमांडर ने अमित शाह के नाम से राज्यपाल से की बात

 

मित्र को बनाना चाह रहे थे कुलपति  . . .
(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। एयरफोर्स के विंग कमांडर कुलदीप वाघेला ने मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बनकर मोबाइल पर बात की। वाघेला ने राज्यपाल को आदेशात्मक लहजे में अपने मित्र डॉ. चंद्रेश कुमार शुक्ला को जबलपुर के मध्यप्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय का कुलपति बनाने को कहा।

राज्यपाल और उनके स्टाफ को फोन कॉल में गड़बड़ लगी

राज्यपाल और उनके स्टाफ को फोन कॉल में गड़बड़ लगी तथा दिल्ली में गृह मंत्री शाह के बंगले पर इस तरह के कॉल का सत्यापन कराया। फोन कॉल मंत्री के यहां से नहीं किए जाने पर मामला एसटीएफ को सौंपा गया जिसने विंग कमांडर व डॉ. चंद्रेश कुमार शुक्ला को गिरफ्तार कर लिया।
आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में कुलपति चयन होना था

एसटीएफ एडीजी अशोक अवस्थी ने बताया कि जबलपुर के मध्यप्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में कुलपति चयन होना था जिसके लिए कई लोगों ने बायोडाटा दिए थे। कुलपति चयन के लिए सर्च कमेटी ने साक्षात्कार भी लिए थे।

इसमें भोपाल के साकेतनगर में रहने वाले डेंटल सर्जन डॉ. चंद्रेश कुमार शुक्ला भी शामिल थे। चयन प्रक्रिया के बीच में डॉ. शुक्ला ने अपने मित्र एयरफोर्स में विंग कमांडर कुलदीप वाघेला से चर्चा की। शुक्ला ने मित्र वाघेला को कहा कि कुलपति बनने के लिए किसी बड़े व्यक्ति से फोन कराना पड़ेगा तो दोनों के बीच चर्चा में भाजपा अध्यक्ष व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से राज्यपाल की बात कराना तय हुआ। मगर अमित शाह का लिंक नहीं मिलने पर दोनों ने खुद ही शाह बनकर राज्यपाल से बात करने की योजना बनाई।