कार्यकर्ताओं की बात सरकार सुने, यही मेरी कोशिश- सिंधिया

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनी है तो कार्यकर्ताओं की बात सरकार तक पहुंचना चाहिए। इसीलिए वे जब भोपाल या कहीं जाते हैं तो कार्यकर्ताओं से मुलाकात करते हैं जिससे उनकी बात पता चल सके। सिंधिया ने कहा कि उनकी कोशिश होती है कि कार्यकर्ताओं की बात ज्यादा सुनी जाए।

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में शुक्रवार को सिंधिया ने कार्यकर्ताओं से मुलाकात के पहले पत्रकारों से चर्चा के दौरान यह बात कही। उन्होंने राज्यसभा चुनाव में लड़ने तथा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने के सवाल पर दोहराया कि वे अपने 18-19 साल के राजनीतिक जीवन में कभी किसी कुर्सी की दौड़ में नहीं रहे। उनके लिए राजनीति जनसेवा का माध्यम है। उनका यह प्रयास रहता है कि लोगों के लिए सदैव काम करते रहे और इस लक्ष्य के साथ ही वे राजनीति करते हैं।

भावी पीढ़ी को सकारात्मक इतिहास बताया जाए

सिंधिया ने कहा कि आज की पीढ़ी को सकारात्मक इतिहास के बारे में ज्यादा से ज्यादा बताया जाना चाहिए। यह बात उन्होंने तानाजी फिल्म को टैक्स फ्री किए जाने की मांग पर पूछे गए सवाल को लेकर कही। उन्होंने कहा कि वे किसी एक फिल्म या झांकी के बारे में टिप्पणी नहीं करना चाहते। सिंधिया ने कहा कि हमारे पूर्वजों के त्याग-बलिदान के बारे में दिखाने फिल्म या झांकी को प्रोत्साहित करना चाहिए। इससे नई पीढ़ी को पूर्वजों के त्याग-बलिदान का पता चलेगा और वे उससे प्ररेणा ले सकेंगे।

आंतरिक सुरक्षा से समझौता नहीं

कांग्रेस महासचिव सिंधिया ने देविंदर सिह को लेकर कहा कि यह गंभीर मुद्दा है। इससे आंतरिक सुरक्षा भी जुड़ी है। आंतरिक सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया जाना चाहिए। इस मामले में जल्द से जल्द और सख्त कार्रवाई की जाना चाहिए।