केबल चोरी जाने के बाद भी विभाग ने नहीं लगायी केबल

 

(ब्यूरो कार्यालय)

छपारा (साई)। क्षेत्र में बीएसएनएल टॉवर में लगी फीडर केबल लाइन लगातार चोरी की घटनाएं हो रही हैं। इसके बावजूद बीएसएनएल विभाग के अधिकारी इस पर गंभीर नहीं हैं।

महिनों पहले टॉवर से चोरी हुई केबल लाइनों को बीएसएनएल द्वारा फिर से नहीं लगाया गया है। इस कारण उपभोक्ताओं को सेवाएं नहीं मिल रही हैं। वीक नेटवर्क की समस्या से क्षेत्र के बीएसएनएल उपभोक्ता परेशान हैं। शिकायत करने पर बीएसएनएल के अधिकारी जिम्मेदारियों से बचकर गोल मोल जवाब उपभोक्ताओं को दे रहे हैं।

गौरतलब है कि गत 05 माह पूर्व 12 अगस्त 2019 को अज्ञात चोरों द्वारा नगर के दूरसंचार सेवा केंद्र में लगे टॉवर के नीचे लगी लगभग 25 मीटर 14 फीडर केबल लाइन दो बार चोरी कर ली गयी। इसमंे एक बार 15 मीटर व दूसरी बार में 10 मीटर इनकी अनुमानित कीमत 70 हजार रुपए विभाग द्वारा बताई गयी।

छपारा जनपद क्षेत्र के बर्रा व चमारी में भी अक्टूबर नवंबर माह में केबल चोरी हो गयी। इसमें बर्रा में 25 अक्टूबर को ग्राम पंचायत कार्यालय के ऊपर से फिर 25 मीटर की 06 फीडर केबिल की चोरी होती है। विभाग ने केबल की अनुमानित कीमत 30 हजार रुपए बताई है।

चमारी में 18 नवंबर को 25 मीटर 18 फीडर केबल की चोरी की गयी। इन सभी घटनाओं की लिखित रिपोर्ट दूर संचार विभाग के छपारा में पदस्थ टेलीकॉम तकनीकी सहायक पुसू लाल उईके ने अधिकारी के साथ छपारा पुलिस थाने में की थी लेकिन अब तक न तो चोरों का पता चला है और न ही दूरसंचार विभाग द्वारा नया केबल लगायी गयी है। इसके चलते नगर के बीएसएनएल मोबाइल के उपभोक्ता 05 माह से खासे परेशान हैं।

वर्तमान में उपभोक्ता बीएसएनएल से विमुख होते भी दिख रहे हैं। वर्षों से बीएसएनएल पर विश्वास करने वालों का अब मोह भंग होता जा रहा है। बीएसएनएल आज वैसे ही उपभोक्ताओं की कमी झेल रहा है। उपसंभाग लखनादौन के एसडीओ विजय अहिरवार का कहना है कि मोबाइल नेटवर्किंग विभाग उनके पास नहीं है, वे दूसरे विभाग देखते हैं।