सीएए के समर्थन में उमड़ा जनसैलाब!

 

एक किलोमीटर लंबा तिरंगा रहा आकर्षण का केंद्र

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। केंद्र सरकार के द्वारा नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) लागू किये जाने के समर्थन में जिला मुख्यालय में आयोजित रैली पूरी तरह शांतिपूर्ण रही और इसमें भारी जनसैलाब उमड़ा। इस दौरान लगभग एक किलो मीटर लंबा तिरंगा आकर्षण का केंद्र बना रहा।

नागरिक परिषद संगठन के द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम की जानकारी देते हुए अधिवक्ता प्रदीप बैस ने बताया कि इस रैली में आये नागरिकों का उत्साह देखते ही बन रहा था। इसमें जिले भर से लोगों ने अपनी उपस्थित दर्ज करायी। उन्होंने बताया कि इस रैली में जन प्रतिनिधियों सहित सभी वर्ग, समाज, धर्म, संप्रदाय के लोगों की सहभागिता रही।

इस रैली में केंद्रीय राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, सांसद डॉ.ढाल सिंह बिसेन, सिवनी विधायक दिनेश राय, केवलारी विधायक राकेश पाल सिंह, पूर्व विधायक नरेश दिवाकर, कमल मर्सकोले सहित बड़ी तादाद में उनके समर्थक उपस्थित रहे। इस दौरान पुलिस की व्यवस्था चाक चौबंद रही। नवागत एसडीओपी पारूल शर्मा एवं स्थानांतरित एसडीओपी संजीव पाठक ने व्यवस्थाओं को सम्हाला।

इस अवसर पर रैली स्थल मिशन स्कूल से रैली आरंभ होने के बाद गणेश चौक, जैन मंदिर के सामने से होकर शुक्रवारी, नेहरू रोड, नगर पालिका तिराहा, बस स्टैण्ड, बीएसएनएल के सामने से गांधी भवन होकर वापस मिशन स्कूल पहुँची। इसमें महिलाओं की सहभागिता भी अधिक रही। रैली के अंत में अधिवक्ताओं का दल भी आकर्षण का केंद्र रहा।

रैली की समाप्ति पर वक्ताओं ने बताया कि पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में अल्प संख्यकों पर होने वाले अत्याचार के कारण सरकार के द्वारा इन तीन देशों के छः पूजा पद्धति के अनुयायियों को भारत की नागरिकता देने के लिये सीएए कानून बनाया गया है।

है तो सही कदम पर पार्टी लाईन से बंधे : रैली के दौरान इस कानून का समर्थन करने वाले कुछ दलों के सदस्यों के बीच यह चर्चाएं भी होती रहीं कि यह कानून है तो सही पर क्या किया जाये, वे पार्टी लाईन से बंधे हैं, इसलिये इसका समर्थन नहीं कर पा रहे हैं।

नहीं मिला सहयोग! : इसी बीच भाजपा के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि भाजपा कार्यालय में बाहर से आये एक पदाधिकारी के समक्ष भाजपा के कुछ नेता यह कहते भी देखे गये कि सांसद और विधायकों के द्वारा इस रैली में अपेक्षित सहयोग प्रदाय नहीं किया गया, वरन इस रैली का स्वरूप और भी भव्य होता!

विरोध की रैली जल्द : इसी बीच शहर में इस तरह की चर्चाएं भी चल रही हैं कि सीएए कानून के विरोध में रैली का आयोजन भी जल्द हो सकता है। इसके लिये अंदर ही अंदर तैयारियां आरंभ हो गयी हैं। इन चर्चाओं में कितनी सच्चाई है यह बात तो भविष्य के गर्भ में है, पर अगर सीएए के विरोध में रैली का आयोजन किया गया तो उसमें भी खासी भीड़ उमड़ने की संभावनाएं भी जतायी जा रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *