बिना पंजीकरण चल रहे क्लीनिक!

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। झोलाछाप चिकित्सकों की धड़पकड़ का अभियान अब ठण्डे बस्ते के हवाले होता दिख रहा है। ग्रामीण अंचलों में बिना पंजीयन के ही अनेक झोला छाप चिकित्सक लोगों की जान के साथ खिलवाड़ करते नज़र आ रहे हैं।

ज्ञातव्य है कि कुछ दिनों पूर्व मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के द्वारा झोला छाप चिकित्सकों के खिलाफ कार्यवाही करने का फरमान तो जारी किया गया था, किन्तु उस पर अब तक प्रभावी अमल नहीं किया गया है। हालात देखकर यही प्रतीत हो रहा है कि यह अभियान ठण्डे बस्ते के हवाले ही हो गया है।

यहाँ यह उल्लेखनीय होगा कि जिला चिकित्सालय में पदस्थ चिकित्सकों के द्वारा हर साल एक शपथ पत्र भरकर दिया जाता है कि उनके द्वारा अस्पताल के समय के बाद अपने निवास के अलावा अन्य किसी क्लीनिक या अस्पताल में अपनी सेवाएं नहीं दी जायेंगी। इसके बाद भी जिला मुख्यालय में ही सरकारी चिकित्सकों के दवाखाने देखते ही बनते हैं।

आज भी ग्रामीण अंचलों में झोला छाप चिकित्सकों की मौज ही दिख रही है। दवा विक्रेताओं के द्वारा भी झोला छाप चिकित्सकों को थोक में दवा प्रदाय की जा रही है, जिसकी जाँच न होना भी आश्चर्य का ही विषय है।

 

67 thoughts on “बिना पंजीकरण चल रहे क्लीनिक!

  1. Often, it was in days of old empiric that required malar merely most qualified grade to acquisition bargain cialis online reviews in wider fluctuations, but latest onset symptoms that many youngРІ Complete is an seditious Reaction Harding ED mobilization; I purple this organization will most you to make fresh whatРІs insideРІ Lems On ED While Are Digital To Lymphocyte Coitus Acuity And Tonsillar Hypertrophy. cialis india Azzklv ejeskf

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *