रामराजा मंदिर को विश्व पर्यटन के नक्शे पर लाने की कवायद

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मध्यप्रदेश सरकार ने अब भगवान रामराजा मंदिर और ओरछा की आक्रामक ब्रांडिंग की योजना पर काम शुरू किया है। बुंदेलखंड की काशी” के रूप में विख्यात ओरछा में देशी-विदेशी पर्यटकों को लुभाने के लिए सांस्कृतिक उत्सवों पर फोकस किया जा रहा है। प्रदेश में मौजूद धार्मिक, पर्यटन एवं पुरातात्विक महत्व के डेस्टिनेशन” को भी नए सिरे से सजाने-संवारने की मुहिम शुरू की जा रही है।

संस्कृति एवं पर्यटन विभाग ने भगवान राम की नगरी के रूप में विख्यात ओरछा के राम राजा मंदिर और पुरातात्विक धरोहरों की ब्रांडिंग की योजना पर काम शुरू किया है। बुंदेलखंड की काशी के रूप में प्रसिद्ध ओरछा में भगवान राम को लेकर सदियों से अद्भुत परंपरा चल रही है। यहां श्रीराम को राजा के रूप में पूजा जाता है और दोनों वक्त उन्हें पुलिस की टुकड़ी द्वारा सलामी भी दी जाती है।

लेजर शो से राम की गाथा

अयोध्या से भगवान राम के ओरछा आगमन की गाथा को थ्रीडी मैपिंग व लेजर शो के जरिए जहांगीर महल की दीवारों पर प्रदर्शित करने की तैयारी की गई है। रामराजा मंदिर को नई साज-सज्जा दी जा रही है। मार्च के प्रथम सप्ताह में तीन दिनी ओरछा महोत्सव” के बहाने राज्य सरकार ने धार्मिक पर्यटन को बढ़ाने के कई जतन शुरू किए हैं। महोत्सव का ब्लू प्रिंट” तैयार कर लिया गया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने धार्मिक पर्यटन को बढ़ाने के लिए खास दिलचस्पी ली है।

मंत्री-अफसरों के दौरे

ओरछा में तैयारियों को व्यापक स्वरूप देने और समय पर चाक-चौबंद व्यवस्थाओं के लिए महीने में दो बार प्रभारी मंत्री फेरी लगा चुके हैं। संस्कृति मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ का दौरा हो चुका है। क्षेत्रीय प्रतिनिधि व वाणिज्यिक कर मंत्री बृजेंद्र राठौर लगातार यहां कैंप किए हुए हैं।

प्रदेश के मुख्य सचिव एसआर मोहंती और लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता आरके मेहरा सहित अन्य विभागों के मुखिया ओरछा का लगातार दौरा कर रहे हैं। आसपास के जिलों को जोड़ने वाली सड़कों को युद्ध स्तर पर चकाचक किया जा रहा है। ओरछा में बिजली-पानी की सुविधाओं के साथ नए रंग-रोगन में सजाने-संवारने की कवायद चल रही है।

170 thoughts on “रामराजा मंदिर को विश्व पर्यटन के नक्शे पर लाने की कवायद

  1. The foursome oral exam PDE5 inhibitors commercially
    uncommitted in the U.S. are sildenafil (Viagra, Pfizer), Levitra
    (Vardenafil and Staxyn, Bayer/GlaxoSmithKline), Cialis (Cialis, Eli Lilly),
    and a Thomas More latterly approved drug,
    avanafil (Stendra, Vivus). The expanding upon of this socio-economic class
    has allowed for greater tractability in prescribing based on mortal answer. http://lm360.us/

  2. hello there and thank you for your info – I have definitely picked up
    anything new from right here. I did however expertise some
    technical issues using this site, since I experienced to reload
    the web site a lot of times previous to I could get it to load
    correctly. I had been wondering if your web hosting is OK?
    Not that I’m complaining, but slow loading instances times will sometimes affect your
    placement in google and can damage your quality score if ads and marketing with Adwords.
    Anyway I am adding this RSS to my e-mail and can look out for a lot more of your respective interesting content.
    Make sure you update this again very soon. https://www.azhydroxychloroquine.com/

  3. Pingback: cialistodo.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *