रियल एस्टेट में अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा पैसा भारत में लगाया ट्रंप ने

 

(वाणिज्य ब्यूरो)

मुंबई (साई)। अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप 24 फरवरी को अपनी पत्नी मेलानिया ट्रंप और बेटी इवांका ट्रंप के साथ भारत के दो दिन के दौरे पर आ रहे हैं। डॉनल्ड ट्रंप केवल राजनेता ही नहीं, बल्कि अमेरिका के एक दिग्गज कारोबारी भी हैं। रियल एस्टेट के साथ अन्य कारोबारों में भी उन्होंने पैसे लगा रखे हैं।

सबसे बड़ी बात यह है कि ट्रंप ने रियल एस्टेट में नॉर्थ अमेरिका के बाद कहीं सबसे ज्यादा निवेश किया है तो वह भारत है। अब आप समझ सकते हैं कि ट्रंप का भारत दौरा दो देशों की राजनीति के साथ-साथ उनके कारोबारी हितों के लिहाज से भी महत्व रखता है। बहरहाल, यहां हम भारत में ट्रंप के कारोबार पर एक नजर डालते हैं।

डॉनल्ड ट्रंप का भले ही भारत का यह पहला दौरा है, लेकिन उनके बेटे डॉनल्ड ट्रंप जूनियर हाल के वर्षों में कई बार भारत का दौरा कर चुके हैं। भारत में ट्रंप का कारोबार द ट्रंप ऑर्गनाइजेशन का हिस्सा है।

डॉनल्ड ट्रंप का साम्राज्य : द ट्रंप ऑर्गनाइजेशन 500 कारोबारी इकाइयों का एक समूह है, जिसके मालिक डॉनल्ड ट्रंप हैं। इनमें से 250 से अधिक कंपनियां ट्रंप के नाम का इस्तेमाल करती हैं। इसकी स्थापना ट्रंप की दादी एलिजाबेथ क्राइस्ट ट्रंप तथा पिता फ्रेड ट्रंप ने ई. ट्रंप ऐंड संस के रूप में की थी। कंपनी की सालाना आय लगभग 5,000 करोड़ रुपये सालाना है।

डॉनल्ड ट्रंप के अमेरिका के राष्ट्रपति बनने से पहले उनकी कंपनी ने हितों के टकराव से बचने को लेकर किसी अन्य देश में निवेश की तमाम योजनाओं को रोक रखी है।

भारत में ट्रंप के रियल एस्टेट प्रॉजेक्ट्स : न्यूयॉर्क की कंपनी द ट्रंप ऑर्गनाइजेशन ने साल 2013 में भारतीय रियल एस्टेट बाजार में कदम रखा था और भारतीय कंपनियों के साथ मिलकर पांच लग्जरी रेसिडेंशल प्रॉजेक्ट्स लॉन्च कर चुकी है। ट्रंप की कंपनी के साथ भारतीय कंपनियां- लोढ़ा ग्रुप, पंचशील रियल्टी, एम3एम, ट्रिबेका, यूनिमार्क तथा आइरियो काम कर रही हैं। भारत में द ट्रंप ऑर्गनाइजेशन के साथ काम करने वाली कंपनियों का कहना है कि वे केवल ट्रंप के ब्रैंड के नाम पर 40ः अतिरिक्त कीमत वसूल कर पा रहे हैं और यह ब्रैंड भारत में बेहतर काम कर रहा है।

 

32 thoughts on “रियल एस्टेट में अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा पैसा भारत में लगाया ट्रंप ने

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *