राष्ट्रपति के दौरा से पहले निरीक्षण में निकले चीफ जस्टिस

 

(ब्यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। राष्ट्रपति और सीजेआई के 20 और 21 मार्च के दौरा को लेकर प्रशासन अलर्ट हो गया है। सोमवार को चीफ जस्टिस अजय कुमार मित्तल ने खुद उन स्थानों का निरीक्षण किया जहां-जहां राष्ट्रपति को पहुंचना है। इस दौरान उनके साथ संभागायुक्त रविंद्र कुमार मिश्रा और कलेक्टर भरत यादव सहित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे। चीफ जस्टिस ने अधिकारियों को व्यवस्थाएं सुधारने के निर्देश दिए।

न्यायिक अकादमी के 25 साल पूरे होने पर 20 मार्च को शहर में होने वाले कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया शरद अरविंद बोबड़े भी शामिल होंगे। इसके बाद राष्ट्रपति दूसरे दिन 21 मार्च को रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे। इसको लेकर प्रशासन ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। न्यायिक अकादमी का कार्यक्रम पंडित रविशंकर शुक्ल स्टेडियम और मानस भवन में होना है। इसको लेकर मध्यप्रदेश हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश अजय कुमार मित्तल के साथ निकले भ्रमण दल ने डुमना से लेकर रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय और वहां से सर्किट हाउस नंबर एक तक का जायजा लिया। इसके बाद संयुक्त दल सर्किट हाउस से मानस भवन पहुंचा। इस दौरान दल के सदस्यों ने सड़क सुरक्षा व वहां की तैयारियों को देखा। इस दल ने आने वाले मार्ग से ही वापसी भी की, जिसे प्रारंभिक रिहर्सल बताया गया है। उन्होंने अधिकारियों को व्यवस्थाएं दुरूस्त करने के निर्देश दिए।

राष्ट्रपति उत्तर भारतीय भोजन करेंगे, प्रशासन तक पहुंचा प्रोटोकाल

राष्ट्रपति के दो दिवसीय प्रवास को लेकर पिछले कई दिनों से तैयारियां चल रही हैं। सोमवार को राष्ट्रपति क्या खाएंगे, उनका भोजन कैसा होगा। इसी तरह की अन्य जानकारियों वाला प्रोटोकाल जिला प्रशासन तक पहुंच गया। इस प्रोटोकाल में राष्ट्रपति द्वारा उत्तर भारतीय भोजन करने का जिक्र है। यहां तक की राष्ट्रपति को लेकर बरती जाने वाली सभी तरह की सतर्कता और जरूरी साजो सामान की सूची भी प्रशासन को भेजी गई है। जिसका पालन हर हाल में करना होगा। वहीं कलेक्टर भरत यादव की अध्यक्षता में प्रशासनिक अफसरों के साथ बैठक का आयोजन भी किया गया। इस बैठक में चल रही तैयारियों की समीक्षा की गई।

दो स्तर पर चल रही बैठक

चूंकि राष्ट्रपति का आगमन हाई कोर्ट के कार्यक्रम में होगा। इसलिए हाई कोर्ट के स्तर पर भी अलग से बैठकों का दौर चल रहा है। वहीं शासन व प्रशासन स्तर पर अलग से बैठक की गई हैं।

जहां-जहां कार्यक्रम में राष्ट्रपति शामिल होंगे। उन सभी जगहों को अभी से दुरुस्त किया जाने लगा है। इनमें मानस भवन से लेकर पंडित रविशंकर शुक्ल स्टेडियम तक जाने वाले सभी मार्गों को भी नए सिरे से तैयार किया जाएगा। इस बैठक में एसडीएम से लेकर निगम व अन्य विभागों के अफसर भी मौजूद थे।

राष्ट्रपति आगमन को लेकर शासन स्तर पर भी अलग से बैठक और वीडियो कांफ्रेंस की जा चुकी हैं। सुरक्षा, परिवहन, रुकने-रहने से लेकर कर्मचारी-अधिकारियों की ड्यूटी भी तय की जा रही है।