पुलिस अधिकारी बन चालक को बंधक बनाकर ट्रक लूटने वाले गिरफ्तार

 

(ब्यूरो कार्यालय)

इंदौर (साई)। क्राइम ब्रांच की टीम ने लसूड़िया थाना पुलिस के साथ मिलकर ट्रक चालक को बंधक बनाकर लूट करने वाले पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया है। ये आरोपित तलावली चांदा स्थित पेट्रोल पंप को लूटने की साजिश रच रहे थे। सभी आरोपितों पर धोखाधड़ी व लूट का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने सभी को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया है। आरोपितों से अन्य मामलों में भी पूछताछ की जा रही है।

क्राइम ब्रांच के मुताबिक, सूचना मिली थी कि कुछ लोग लसूड़िया थाना क्षेत्र के तलावली चांदा के पास सड़क किनारे सुनसान जगह कार (एमपी 09 एचई 1434) में बैठकर शराब पी रहे हैं। वे तलावली चांदा के पास इंडियन पेट्रोल पंप पर डकैती डालने की बात भी कर रहे हैं। क्राइम ब्रांच ने तुरंत लसूड़िया थाना पुलिस के साथ घेराबंदी की। पुलिस को आता देख बदमाश कार लेकर भागने का प्रयास करने लगे जिन्हें घेराबंदी कर पकड़ लिया। आरोपितों के नाम डब्बू उर्फ गुलजार (48) पिता हाकम सिंह निवासी लेक पैलेस कॉलोनी, विनोद (47) पिता रामपाल मरमट निवासी कुलकर्णी का भट्टा, महेश (36) पिता सुंदरलाल धुर्वे निवासी महाराणा प्रताप नगर, संजय (45) पिता अजब सिंह निवासी महेश यादव नगर और हेमंत (36) पिता देवीलाल यादव निवासी महाराणा प्रताप नगर हैं। आरोपितों की कार की तलाशी लेने पर लोहे का सरिया, एक 12 बोर का देशी कट्टा व जिंदा कारतूस, एक तलवार और डंडे बरामद हुए। आरोपितों ने पूछताछ में कबूला कि वे शराब पीने के बाद तलावली चांदा के पास इंडियन पेट्रोल पंप को लूटने वाले थे।

देवास से चालक को बंधक बनाकर लूटा था ट्रक

आरोपितों से पूछताछ में कई घटनाओं का खुलासा हुआ है। आरोपितों ने बताया कि लसूड़िया थाना क्षेत्र में कुछ दिन पहले रात करीब डेढ़ बजे विंध्याचल ट्रांसपोर्ट कटारिया कॉम्प्लेक्स से उन्होंने ट्रक चोरी किया था, जिसमें सामान भरा हुआ था। इस मामले में लसूड़िया थाने में वाहन चोरी का प्रकरण भी दर्ज हुआ था। आरोपितों ने बताया कि देवास जिले से ट्रक (एमपी 09 जीजी 2376) के चालक को बंधक बनाकर कट्टा अड़ाकर लूटा था। पुलिस ने ट्रक सहित सामग्री भी जब्त कर ली है। पुलिस ने जब देवास के कांटाफोड़ थाने से जानकारी ली तो पता चला कि 21 फरवरी की रात कुछ बदमाश कार में सवार होकर आए। उन्होंने चालक को कट्टा अड़ाकर बंधक बनाया और किराना राशन से भरा ट्रक लूट लिया था।

पुलिस बनकर आए थे, फिर कनपटी पर अड़ा दिया कट्टा

कांटाफोड़ थाने में दर्ज लूट की घटना के फरियादी चालक दिनेश परते ने बताया कि जब वह रात को ट्रक में सो रहा था तभी कुछ लोग पुलिस अधिकारी बनकर वहां आए। उन्होंने ट्रक चेक करने के नाम पर कट्टा अड़ाकर बंधक बना लिया। उन्होंने धमकाया कि चिल्लाओगे तो जान से मार देंगे। उसे बांधकर ट्रक के केबिन में पटक लिया और उसे लेकर तीन इमली चौराहा इंदौर तक आए जहां उसे छोड़कर ट्रक लेकर भाग निकले। आरोपितों के पास से दो मिनी ट्रक (एमएच 47 वाय 6840 और एमपी 09 जीजी 2376) 58 लाख रुपए की सामग्री भी जब्त की गई है।

गैंग के सरगना हैं हिस्ट्रीशीटर बदमाश

गिरोह का मुख्य सरगना संजय पिता अजब सिंह है। उसने पूछताछ में बताया कि उसके खिलाफ करीब 45 अपराध एरोड्रम, चंदन नगर, अन्नापूर्णा, बडगोंदा, विजय नगर, महू सहित करीब एक दर्जन से अधिक थाना क्षेत्रों में लूट चोरी व नकबजनी, डकैती की धाराओं में दर्ज हैं। उसकी कार से ही सभी आरोपित शहर व आसपास के जिलों में घूमकर रैकी करते थे और सुनसान जगह खड़ी गाड़ियों को लूटते थे। आरोपित डब्बू पिता हाकम सिंह गुलजार प्रॉपर्टी का काम करता है। उसके विरुद्ध एरोड्रम, विजय नगर, सदर बजार, लसूड़िया, सेंट्रल कोतवाली, चंदन नगर व पलासिया थाने में चोरी, मारपीट, हत्या व हत्या के प्रयास सहित 14 अपराध दर्ज हैं। वह साथी राहुल टोकनीवाला के साथ वर्ष 2011 में एमजी रोड थाना क्षेत्र में हत्या भी कर चुका है। पांच-छह महीने पहले वह विजय नगर थाना क्षेत्र से एक बाइक चुराने के मामले में जेल गया था।