मौसम आया पटरी पर, 29 के बाद फिर बदलाव संभव

 

मार्च में भी बारिश की संभावनाएं, अनिश्चितता है बरकरार!

(महेश रावलानी)

सिवनी (साई)। मौसम का मिज़ाज इस बार कुछ ज्यादा ही अनिश्चित प्रतीत हो रहा है। मौसम में 29 फरवरी से बड़ा बदलाव आने वाला है। 29 फरवरी से 06 मार्च के बीच गरज – चमक के साथ ओलावृष्टि की संभावना है। मार्च माह में भी बारिश की संभावनाएं बनती दिख रही हैं।

मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि यह बदलाव जम्मू कश्मीर से गुज़रने वाला पश्चिमी विक्षोभ लायेगा। यह बारिश किसानों को बड़ा नुकसान पहुँचा सकती है, क्योंकि रबी की फसल तैयार हो रही है। ओले गिरने से रबी की फसल को भारी नुकसान हो सकता है।

सूत्रों ने बताया कि फरवरी से मध्य से मौसम में उतार चढ़ाव बना हुआ है। शनिवार से सोमवार तक जिले में बारिश हुई और ओलावृष्टि से अनेक क्षेत्रों में फसल भी पूरी तरह बिछ चुकी है। ओलों के कहर से अन्नदाता किसान कराहता ही नज़र आ रहा है।

सूत्रों ने बताया कि 29 फरवरी को एक बार फिर मौसम में बदलाव देखने को मिल सकता है। 29 फरवरी से 06 मार्च के बीच भी बारिश होने का अनुमान दिख रहा है। इस दौरान ओले भी गिर सकते हैं। आने वाले दिनों में किसानों को बारिश और ओलों से सतर्कता बरतने की आवश्यकता है।

सूत्रों ने बताया कि इस बार 29 फरवरी से जो पश्चिमी विक्षोभ आ रहा है, वह काफी मजबूत है। इससे ग्वालियर, चंबल संभाग, जबलपुर, भोपाल संभाग भी प्रभावित होंगे। 29 फरवरी की रात से बारिश की सिलसिला आरंभ हो जायेगा, जो 06 की दोपहर तक जारी रहेगा। बारिश के साथ ओले गिरने की संभावना काफी ज्यादा दिख रही है।

वैसे पिछले एक सप्ताह से मौसम का मिज़ाज किसी को समझ नहीं आ रहा है। कभी ठंड लगने लगती है तो कभी कर्मी से पसीना आने लगता है। दो दिनों से चल रहे बादलों और सूरज के बीच आँख मिचौली के खेल ने लोगों को परेशान कर दिया है। लोग इस बात को लेकर असमंजस में हैं कि वे गर्म कपड़े पहनकर घर से निकलें या फिर टीशर्ट में, सुबह कोहरे के साथ ठंड पड़ रही है, वहीं दोपहर तक धूप चटक होने लगती है, जिससे गर्मी का एहसास होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *