गाड़ियों के यूनिफाइड रजिस्ट्रेशन कार्ड मिलना शुरू

 

केंद्र की योजना को लागू करने में पहला प्रदेश बना एमपी

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने यूनिफाइड ड्राइविंग लाइसेंस एवं पंजीयन कार्ड का मंगलवार को मंत्रालय में लोकार्पण किया।

मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है जिसने यूनिफाइड ड्राइविंग लाइसेंस एवं पंजीयन कार्ड एक साथ लोकार्पित किया है। इसके पूर्व उत्तर प्रदेश राज्य ने सिर्फ यूनिफाइड ड्राइविंग लाइसेंस जारी किया है। इस मौके पर परिवहन एवं राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने इस मौके पर परिवहन विभाग को देश में यूनिफाइड पंजीयन कार्ड बनाने में पहला और ड्राइविंग लाइसेंस में दूसरा राज्य मध्यप्रदेश को बनाने के लिए बधाई दी। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर यूनिफाइड कार्ड के प्रथम छह उपभोक्ताओं को टोकन के रूप में कार्ड वितरित किए। यूनिफाइड कार्ड पाने वाले लोग इस दौरान काफी खुश नजर आए।

क्या है खासियत : यूनिफाइड ड्राइविंग लाइसेंस एवं पंजीयन कार्ड में नई जानकारियां भी संकलित की गई हैं। पूरे देश में यह कार्ड एक समान और एक रंग का है। पहाड़ी और खतरनाक क्षेत्रों में ड्राइविंग करने की क्षमता का भी इसमें उल्लेख होगा। विशिष्ट सीरियल नंबर होने के साथ ही इसमें आकस्मिक इमरजेंसी नंबर होगा। साथ ही बैज नंबर भी अंकित होगा। नए कार्ड के दोनों तरफ जानकारी अंकित होने के साथ ही ऑर्गन डोनर, क्यूआर कोर्ड और अमान्य वाहन पंजीयन नंबर की भी जानकारी होगी।

लोगों को मिलेगी मदद : यूनिफाइड ड्राइविंग लाइसेंस में व्यक्ति के बारे में पूरी जानकारी होती है। इसका एक फायदा यह हो सकता है कि सड़क हासे में मौत की स्थिति में अंगदान की प्रक्रिया जल्दी और आसानी से हो सकेगी। क्योंकि इसमें व्यक्ति के बॉडी पार्ट्स के बारे में भी जानकारी होती है। इसके साथ ही यूनिफाइड ड्राइविंग लाइसेंस और कार्ड होने से परिवार, पुलिस, प्रशासन और दूसरी एजेंसी को को-ऑर्डिनेट करने में आसानी होगी।

वहीं, इस मौके पर परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि यूनिफाइड कार्ड जारी करने लिए सॉफ्टवेयर एवं कार्ड संबंधी तैयारी पूरी कर ली गई है। विभाग के डिप्टी डायरेक्टर फाइनेंस गुणवंत सेवतकर ने कहा कि ये कार्ड आज से ही आमलोगों को आरटीओ दफ्तर में मिलने लगेंगे। इसमें क्यूआर कोर्ड होगा जो कार्ड के डेटा को प्रामाणिकता की पुष्टि करेगा। ये कार्ड देशभर में मान्य होगा।